Farmers Protest: किसानों ने अगले दो दिन के लिए दिल्ली कूच रोका

5

Farmers Protest:फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर कानूनी गारंटी देने की मांग कर रहे किसानों ने अगले दो दिनों के लिए दिल्ली कूच रोक दिया है. किसान नेताओं ने कहा, आगे की रणनीति का ऐलान शुक्रवार को किया जाएगा. किसान नेता सरवन सिंह पंढेर ने कहा, खनौरी में हुई घटना पर हम चर्चा करेंगे. दिल्ली की ओर हमारे मार्च पर दो दिन का स्टे रहेगा. हम बाद में पूरी स्थिति स्पष्ट करेंगे कि क्या करना है. हमारा आगे का आंदोलन क्या होगा. इधर केंद्र सरकार ने चौथे दौर की वार्ता विफल होने के बाद पांचवें दौर की वार्ता के लिए किसान नेताओं के प्रतिनिधि मंडल को आमंत्रित किया है.

किसानों ने अगले दो दिन के लिए दिल्ली कूच रोका

Farmers Protest: किसानों ने अगले दो दिन के लिए दिल्ली कूच रोक दिया है. किसान नेता ने कहा, शुक्रवार को आगे की रणनीति का ऐलान किया जाएगा. किसान नेताओं ने कहा, सरकार हमारी मांगे नहीं मान रही है. मालूम हो किसान और सरकार के बीच चौथे दौर की वार्ता असफल रही है. पांचवें दौर के लिए किसानों को आमंत्रित किया गया है.

रण क्षेत्रा में बदला शंभू और खनौरी बॉर्डर, 12 पुलिसकर्मी घायल

प्रदर्शनकारी किसानों ने बुधवार को दिल्ली के शंभू और खनौरी बॉर्डर पर जमकर प्रदर्शन किया. इस दौरान पुलिसकर्मियों के साथ झड़प भी हुई. हरियाणा पुलिस ने शंभू और खनौरी सीमाओं पर किसानों को अवरोधकों की ओर बढ़ने से रोकने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े. जबकि 12 पुलिसकर्मी घायल हुए. हरियाणा पुलिस ने बताया, दाता सिंह-खनौरी सीमा पर प्रदर्शनकारियों ने पुलिस कर्मियों को चारों तरफ से घेर लिया और उसमें मिर्च पाउडर डालकर पराली जलाई, साथ में लाठी-डंडों से पुलिसकर्मियों पर हमला किया और पथराव भी किया. इस दौरान करीब 12 पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए. हम प्रदर्शनकारियों से शांति की अपील करते हैं.

कुछ किसानों ने हरियाणा में अंबाला के समीप शंभू में कई चरणों में लगाए अवरोधकों की ओर बढ़ने की कोशिश की जिसके बाद पुलिस ने उन्हें तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े. थोड़ी देर के विराम के बाद फिर ऐसी ही घटना हुई. शंभू सीमा पर प्रदर्शन स्थल के ऊपर एक ड्रोन भी देखा गया.

MSP पर कानूनी गारंटी की मांग को लेकर 13 फरवरी से प्रदर्शन कर रहे किसान

गौरतलब है कि हजारों किसानों ने 13 फरवरी को दिल्ली की ओर मार्च शुरू किया था. इन किसानों को हरियाणा सीमा पर ही रोक दिया गया था, जहां उनकी सुरक्षाकर्मियों से झड़प हुई थी. किसान तब से हरियाणा के साथ लगती पंजाब की सीमा पर शंभू और खनौरी बॉर्डर पर डेरा डाले हुए हैं. संयुक्त किसान मोर्चा (गैर-राजनीतिक) और किसान मजदूर मोर्चा फसलों के लिए एमएसपी पर कानूनी गारंटी और कृषि कर्ज माफी समेत अपनी मांगों को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत केंद्र सरकार पर दबाव बनाने के लिए ‘दिल्ली चलो’ मार्च का नेतृत्व कर रहे हैं.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.