Farmers Protest: किसान की मौत के दावे पर भगवंत मान बोले- दोषी अफसरों पर होगी कार्रवाई

7

Bhagwant Mann

Farmers Protest: एमएसपी पर कानून की गारंटी की मांग पर अड़े किसानों और सरकार के बीच विवाद बढ़ता ही जा रहा है. नाराज किसान दिल्ली कूच के लिए अड़े हुए हैं. बुधवार को शंभू और खनौरी बॉर्डर पर जमकर हिंसा हुई. जिसमें किसान और पुलिस के अपने-अपने दावे हैं. किसानों का दावा है कि पुलिस कार्रवाई में एक प्रदर्शन की मौत हुई है. जबकि पुलिस ने दावा किया है कि किसानों ने धान की पराली में मिर्चें डालकर आग लगा दी और तलवार, भालों व गंडासों से पुलिस बल पर हमला कर दिया जिसमें 12 पुलिस कर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए. इधर किसान की मौत के दावे पर पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा कि दोषी अफसरों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

भगवंत मान ने केंद्र सरकार पर लगाया गंभीर आरोप

Farmers Protest: किसानों के विरोध प्रदर्शन पर पंजाब के सीएम भगवंत मान ने कहा, शुभकरण की मौत के लिए जो भी पुलिस कर्मी जिम्मेदार होगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. शुभकरण यहां प्रचार के लिए नहीं आए थे, वह अपनी उपज का सही दाम मांगने आए थे. पंजाब सरकार किसानों के साथ खड़ी है. केंद्र सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा, वे हमें राष्ट्रपति शासन की धमकी देने की कोशिश कर रहे हैं. मैं इन धमकियों से डरने वाला नहीं हूं, मैं और शुभकरणों को मरने नहीं दूंगा. मेरी पोस्ट मेरे लिए कोई मायने नहीं रखती इसलिए धमकी देना बंद करें. हमें धमकी देने से पहले मणिपुर और नूंह के बारे में सोचें. बिगड़ती कानून व्यवस्था के लिए हरियाणा पुलिस अधिक जिम्मेदार है. हम उन्हें कोई परेशानी नहीं दे रहे हैं. मैं केंद्र सरकार से फिर आग्रह करूंगा कि वे अपने अहंकार को एक तरफ रखें और ध्यान केंद्रित करें किसानों की मांगें.

गुरुवार को प्रदर्शनकारी की मौत को लेकर सड़क जाम करेंगे किसान

भारतीय किसान यूनियन के प्रमुख गुरनाम सिंह चारुनी ने कहा, आज हमें दुर्भाग्यपूर्ण खबर मिली कि खनौरी सीमा पर एक व्यक्ति को गोली मार दी गई और उसकी मौत हो गई. इसलिए हमने पुतला जलाने की योजना को स्थगित करने का फैसला किया है और इसके बजाय गुरुवार को दोपहर 12 बजे से हर जिले में दो घंटे के लिए सड़कों को अवरुद्ध करने का विकल्प चुना है. हम अगली कार्रवाई पर निर्णय लेने के लिए कोर कमेटी के साथ बैठक बुलाएंगे.

पुलिस का दावा किसानों ने पराली में आग लगाई, हमले में 12 पुलिसकर्मी घायल

न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की कानूनी गांरटी सहित विभिन्न मांगों को लेकर ‘दिल्ली कूच’ कर रहे किसानों ने बुधवार को हरियाणा के दातासिंह वाला-खनौरी बॉर्डर पर धान की पराली में मिर्चें डालकर आग लगा दी और तलवार, भालों व गंडासों से पुलिस बल पर हमला कर दिया जिसमें 12 पुलिस कर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए. पुलिस अधीक्षक सुमित कुमार ने बताया कि किसान आंदोलन के दौरान उपद्रवियों ने धान की पराली में मिर्ची डालकर आग लगा दी और पुलिस जवानों पर हमला किया। उन्होंने बताया कि पराली के साथ जलती मिर्चों के तीखे धुएं तथा तीखी गंध से सुरक्षाबलों को काफी परेशानी हुई. उन्होंने बताया कि कुछ आंदोलनकारियों ने तलवार, भालों व गंडासों से पुलिस पर हमला कर दिया जिसमें 12 पुलिस कर्मी गंभीर रूप से घायल हुए हैं. कुमार ने बताया कि दो पुलिसकर्मियों को पीजीआई, रोहतक रेफर किया गया है.

राहुल गांधी ने भी केंद्र सरकार पर बोला हमला

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने खनौरी बॉर्डर पर गोलीबारी में एक किसान की मौत के दावे पर दुख जताया और केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला. राहुल गांधी ने ‘एक्स’ पर पोस्ट कर कहा, खनौरी बॉर्डर पर युवा किसान शुभकरण सिंह की फायरिंग में मौत की खबर हृदयविदारक है, मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं. पिछली बार 700 से अधिक किसानों का बलिदान लेकर ही माना था मोदी का अहंकार, अब वो फिर से उनकी जान का दुश्मन बन गया है. उन्होंने दावा किया, मित्र मीडिया के पीछे छिपी भाजपा से एक दिन इतिहास ‘किसानों की हत्या’ का हिसाब जरूर मांगेगा.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.