किसी भी परिस्थिति में नशीले पदार्थों की तस्करी बर्दाश्त नहीं की जायेगी: एसएसपी नानक सिंह

जिला पुलिस ने एक साल में 666 मामले दर्ज कर 1032 तस्करों को किया काबू

0 165

बठिंडा ( सोनू टुटेजा)। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार ने प्रदेश में नशे के खिलाफ मुहिम चलाई हुई है इसी कड़ी के तहत बठिंडा जिला पुलिस ने पिछले एक साल में 666 एनडीपीएस एक्ट के मामले दर्ज कर 1032 तस्करों को जेल भेजने में सफलता हासिल की है।आज यहां इंटरनेशनल डे अगेंस्ट ड्रग्स एंड इलिसिट ट्रैफिकिंग की पूर्व संध्या पर एक विशेष बातचीत के दौरान, एसएसपी डा.नानक सिंह ने कहा कि जिले में नशीले पदार्थों की तस्करी किसी भी परिस्थिति में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब को नशा मुक्त बनाने का वादा किया था और जिला पुलिस इसे गंभीरता से ले रही है और ड्रग तस्करों के खिलाफ ठोस कार्रवाई कर रही थी।

उन्होंने कहा कि जिला पुलिस मिशन फतेह को न केवल कोरोना के के साथ जोड़ रही है बल्कि नशा मुक्त करने से भी जोड़ रही है। उन्होंने कहा कि हर पुलिस अधिकारी और कर्मचारियों को दृढ़ता से निर्देश दिया गया है कि वे किसी भी परिस्थिति में ड्रग तस्करों को न छोड़ें और बठिंडा जिला को नशा मुक्त बनाएं। पिछले एक वर्ष के दौरान जिले में ड्रग्स के खिलाफ पुलिस की सफलता पर विस्तार से बताते हुए डा. नानक सिंह ने कहा कि अब तक 6,579 किलोग्राम हेरोइन, 0.022 किलोग्राम स्मैक, 1,400 किलोग्राम चरस, 11 किलो 515 ग्राम अफीम, 42 क्विंटल 69 किल्लो चुरा पोस्त, 43 किलो 898 ग्राम गांजा, 1.006 किलोग्राम भांग, 0.560 किलो नशीला पाउडर, 892 नशीली शीशियां, 0.050 किल्लो सुल्फा और 1841411 नशीली गोलियां बरामद हुईं। इसके अलावा इस दौरान जिला पुलिस द्वारा नशीले पदार्थों की तस्करी से संबंधित 18 भगोड़े भी पकड़े गए हैं।

उन्होंने जिले के लोगों से नशा तस्करों के बारे में कोई भी जानकारी पुलिस को बिना किसी झिझक के देने की अपील की। उन्होंने स्पष्ट किया कि सूचना देने वाले का नाम और पता गोपनीय रखा जाएगा।