Dhirubhai Ambani: आसान नहीं था धीरूभाई के लिए अपना व्यापार खड़ा करना, जानें उनके 10 बिजनेस मंत्र

9

Dhirubhai Ambani ‍Birthday: दुनिया की लीडिंग कंपनियों में रिलायंस इंडस्ट्रीज का नाम शामिल है. इसकी स्थापना धीरुभाई अंबानी ने की थी. उनका जन्म 28 दिसंबर, 1932 को चोरवाड, गुजरात में हुआ था. अंबानी के पिता एक स्कूल शिक्षक थे, मगर उनका परिवार आर्थिक रुप से समृद्ध नहीं था. लिहाजा धीरुभाई को अपनी पढ़ाई बीच में छोड़कर केवल 17 साल की उम्र में यमन जाकर एक पेट्रोल कंपनी में काम करना पड़ा. उन्होंने ए. बेसे एंड कंपनी में डिस्पैच क्लर्क के रूप में काम मिला. इसके बाद, धीरुभाई 1958 में भारत लौटे और रिलायंस कमर्शियल कॉर्पोरेशन कंपनी की स्थापना की. पहले उन्होंने मसाला बेचने का काम शुरू किया. 1962 में उन्होंने कंपनी का नाम रिलायंस टेक्सटाइल इंडस्ट्रीज लिमिटेड कर दिया. इसके बाद, 1966 में गुजरात के नरोदा में एक कपड़ा मिल की स्थापना की. भारतीय शेयर बाजार के लिए एक महत्वपूर्ण क्षण तब आया जब, धीरुभाई 1977 में अपनी कंपनी का आईपीओ लेकर बाजार में आए. इसमें सबसे ज्यादा मध्यवर्ग के लोगों ने निवेश किया. बड़ी बात ये थी कि जिन लोगों ने रिलायंस में निवेश किया था, वो परंपरागत रुप से शेयर बाजार या ट्रेडिंग से दूर रहते थे. आईपीओ की सफलता ने जनता का विश्वास और समर्थन हासिल करने की उनकी क्षमता को प्रदर्शित किया. इसके बाद, रिलायंस इंडस्ट्रीज ने पीछे मुड़कर कभी नहीं देखा. धीरुभाई ने अपने जीवन में कुछ सपलता के मंत्र दिये. आइये उनके बारे में जानते हैं.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.