Dhiraj Sahu IT Raid Case: कैश 300 करोड़ में नहीं दिखा कोई गुलाबी नोट! सवाल- किसकी मदद से बदले गए 2 हजार के नोट?

6

कांग्रेस के राज्यसभा सांसद धीरज साहू और उनके सम्बंधित स्थानों पर आयकर विभाग की छापेमारी में 300 करोड़ रुपये कैश का बहुत बड़ा खुलासा हुआ है. इस छापेमारी में 30 सुरक्षित अलमारियों में नोटों की भरमार थी और इन नोटों की गिनती के लिए मशीनों की भी आवश्यकता पड़ी. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, 300 करोड़ रुपये की गिनती पूर्ण हो चुकी है, लेकिन इसमें और बढ़ोतरी हो सकती है. 30 अलमारियों में पाए गए 300 करोड़ रुपये कैश के संबंध में बताया जा रहा है कि धीरज साहू एक विशाल उद्योगपति हैं और उनका जुड़ाव शराब निर्माण कंपनी, बलदेव साहू एंड ग्रुप ऑफ कंपनीज से है.

आयकर विभाग ने इस ग्रुप के झारखंड-ओडिशा और बंगाल के 10 स्थानों पर छापेमारी की. बलदेव साहू कंपनी के बोलांगीर में स्थित कार्यालय से 30 किलोमीटर दूर स्थित सतपुड़ा ऑफिस में आयकर विभाग ने 200 करोड़ रुपये कैश का सहीगलबा. इस छापेमारी के दौरान, नोटों के बंडल ऑफिस की नौ अलमारियों में संग्रहित थे, जिनमें नोटों की दरें 500, 200, और 100 रुपये की थीं. इस भारी मात्रा में नकदी मिलने के बाद, आयकर विभाग की टीम ने मशीनों का उपयोग करके नोटों की गिनती की, जिसके परिणामस्वरूप 157 बैगों में भरकर उन्हें एक ट्रक में स्थानांतरित किया गया, जो बैंक में पहुंचाया गया.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.