Delhi NCR Pollution 2020: आज दिल्ली-NCR में गंभीर स्थिति में जा सकता है वायु प्रदूषण

0 93

पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में पराली जाने के चलते दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण बेहद खतरनाक होता जा रहा है। सिर्फ 2 दिन की राहत के बाद बृहस्पतिवार से ही दिल्ली एनसीआर की हवा फिर से दमघोंटू हो गई है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (Central Pollution Control Board) के ताजा डाटा के मुताबिक, शुक्रवार सुबह ही दिल्ली के पटपड़गंज इलाके में एयर क्वालिटी इंडेक्स 406 पहुंच गया। दिल्ली के रोहिणी, द्वारका, आश्रम और आनंद विहार इलाके में भी लोगों ने सांस लेने में तकलीफ और आंखों में जलन की शिकायत की है। वहीं, शुक्रवार को हवा के और प्रदूषित होने और इसके गंभीर श्रेणी में पहुंच जाने की संभावना जताई जा रही है। एनसीआर के शहरों का भी हाल बेहाल है। सफर के अनुसार, जमीनी सतह पर हवाओं की गति कम हो गई है। इसके चलते शुक्रवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स 400 पार पहुंच सकता है।

प्रदूषण बढ़ने की एक वजह तापमान में गिरावट होना भी है। अभी दिल्ली के तापमान में गिरावट आने की संभावना है। हवा की गति भी महज आठ किमी प्रति घंटा रही। इस वजह से भी प्रदूषक तत्वों को हवा में जमने की जगह मिल रही है। लिहाजा, शुक्रवार को प्रदूषण गंभीर स्तर पर जा सकता है। हवा की गति में सुधार होने पर शनिवार से प्रदूषण में सुधार हो सकता है।

दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति का कहना है कि राजधानी में बुधवार की तुलना में बृहस्पतिवार को सभी जगह का एयर इंडेक्स तेजी से बढ़ा, ज्यादातर जगहों पर यह 400 के पार ही रहा। एनसीआर की स्थिति भी यही रही। दिल्ली के एयर क्लाविटी इंडेक्स में ही 98 प्वाइंट की वृद्धि दर्ज की गई। दोपहर को तो कुछ देर के लिए यह एयर इंडेक्स 402 पहुंच गया था।

बुधवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स 297 था, जबकि बृहस्पतिवार को इसमें तेजी से बढ़ोतरी हुई और यह 395 पहुंच गया। शाम चार बजे हवा में प्रदूषक कण पीएम 10 की मात्र 376 और पीएम 2.5 कणों की मात्र 221 माइक्रोग्राम प्रतिघन मीटर रही। पता हो कि हवा में पीएम 10 कणों की मात्र 100 और पीएम 2.5 कणों की मात्र 60 होने पर ही उसे स्वास्थ्य के लिए सबसे अच्छा माना जाता है। बृहस्पतिवार को सुबह से ही दिल्ली की हवा दमघोंटू हो गई थी। सुबह की सैर पर निकले लोगों को ही नहीं, कार्यालय जाने के दौरान भी लोगों को सांस लेने में परेशानी हुई। दोपहर दो बजे के लगभग जब दिल्ली का एयर इंडेक्स 402 हुआ तो घर-दफ्तर के भीतर भी लोग असहज होने लगे