दिल्ली के मुखर्जी नगर में आग मामले में हाईकोर्ट ने लिया स्वत: संज्ञान, एमसीडी-पुलिस को दिया जांच का आदेश

62

नई दिल्ली : दिल्ली हाईकोर्ट ने शुक्रवार को मुखर्जी नगर इलाके के एक कोचिंग सेंटर में आग लगने की घटना पर स्वत: संज्ञान लिया है. अदालत ने अधिकारियों को दिल्ली में इस तरह के संस्थानों में सुरक्षा की स्थिति की जांच करने करने का आदेश दिया है. जस्टिस जसमीत सिंह और जस्टिस विकास महाजन की पीठ ने मुखर्जी नगर में गुरुवार की घटना के बारे में समाचार रिपोर्ट का संज्ञान लिया, जिसमें कोचिंग संस्थान के छात्र जोखिम भरे प्रयास के तहत जान बचाने के लिए खिड़कियों से रस्सी के जरिए नीचे उतरते दिखे.

दमकल विभाग और एमसीडी को जांच करने का आदेश

दिल्ली हाईकोर्ट की पीठ ने मुखर्जी नगर के कोचिंग सेंटर में लगी आग के मामले में नोटिस जारी करते हुए दिल्ली दमकल सेवा विभाग से राष्ट्रीय राजधानी में सभी कोचिंग सेंटर के सुरक्षा प्रमाणपत्र की जांच करने और दिल्ली पुलिस से भी इस संबंध में उसका रुख बताने का आदेश दिया है. इसके साथ ही, पीठ ने दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) को ऐसे प्रतिष्ठानों की स्वीकृत भवन योजनाओं की जांच करने का निर्देश दिया है.

पुलिस और दमकल विभाग 15 दिन में दाखिल करें जवाब

अदालत ने कहा कि दिल्ली पुलिस और दिल्ली दमकल सेवा के वकील को नोटिस जारी करें और दोनों आज से दो सप्ताह के भीतर अदालत के समक्ष अपना-अपना जवाब दाखिल करेंगे. दिल्ली सरकार के स्थायी वकील संतोष कुमार त्रिपाठी ने कहा कि छात्रों की सुरक्षा से समझौता नहीं किया जा सकता है. अधिवक्ता ऋषिकेश कुमार ने भी दिल्ली सरकार का प्रतिनिधित्व किया.

3 जुलाई को हाईकोर्ट में सूचीबद्ध होगा मामला

अदालत ने निर्देश दिया कि आगे के निर्देशों के लिए मामला तीन जुलाई को हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष सूचीबद्ध किया जाए. आग लगने की घटना में रस्सी के सहारे इमारत से नीचे उतरने के दौरान कुछ छात्रों को मामूली चोटें आईं. अधिकारियों ने बताया कि शुरुआती जांच से संकेत मिला है कि आग पांच मंजिला इमारत में बिजली के मीटर बोर्ड से शुरू हुई थी.

जान बचाने के लिए खिड़कियों से कूद गए छात्र

पुलिस के अनुसार, दिल्ली के मुखर्जी नगर में लगी आग की घटना के वक्त ‘भंडारी हाउस’ में स्थित कोचिंग में करीब 250 छात्र क्लास ले रहे थे. आगजनी के समय खिड़कियों से धुआं उठते देख घबराए छात्रों को रस्सी के सहारे इमारत के ऊपरी तल से नीचे कूदते देखा गया. छात्रों ने परिसर से बाहर आने के लिए इमारत के दूसरी ओर मौजूद रस्सी का भी इस्तेमाल किया. इनमें से कुछ अपने बैग को नीचे फेंकते और दूसरों की मदद करते देखे गए. मुखर्जी नगर सरकारी नौकरी की तैयारी कराने वाले कोचिंग संस्थानों के केंद्र के रूप में जाना जाता है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.