Delhi Metro News: जानिये- कैसे ‘दिल्ली मेट्रो’ में ही छिपा है मेट्रो के सुरक्षित सफर का राज

0 258

नई दिल्ली  , राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के हर व्यक्ति के सफर की साथी और लाखों लोगों की लाइफलाइन दिल्ली मेट्रो ट्रेन आगामी 7 सितंबर से सुहाने सफर के लिए तैयार है। कोरोना वायरस संक्रमण के दौर में यात्रियों को कोरोना से बचाने के लिए दिल्ली मेट्रो रेल निगम (Delhi Metro Rail Corporation) प्रबंधन हर संभव कोशिश में जुटा है। ऐसे में मेट्रो प्रबंधन ने मेट्रो की नई परिभाषा तैयार की है। मेट्रो शब्द के हर अक्षर की फुल फॉर्म बनाई गई है, जिससे यात्रा करने वाले व्यक्ति सुरक्षित सफर कर सकेगा। इसके लिए प्रबंधन ने मेट्रो के अलग-अलग कोच में यात्रियों को जागरूक करने के लिए मेट्रो के डिस्प्ले बोर्ड लगाए हैं, जिसे पढ़कर हर यात्री कोरोना के प्रति जागरूक होंगे।

मेट्रो अधिकारियों का कहना है कि मेट्रो में यात्रा करने वाले यात्रियों को जागरूक करने के लिए मेट्रो शब्द के हर अक्षर से एक संदेश दिया जाएगा, जो हर व्यक्ति के लिए उपयोगी होगा और वह मेट्रो का प्रयोग कर कोरोना संक्रमण से बच सकेंगे। उन्होंने बताया कि मेट्रो के एम अक्षर से यात्रा के दौरान शारीरिक दूरी बनाए रखें। ई अक्षर से मेट्रो के अंदर हर यात्री मास्क लगाए रखे। टी अक्षर से बेवजह कुछ छूने से बचें। साथ ही आर अक्षर से आरोग्य सेतू एप के जरिए लगातार स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहें और ओ अक्षर से स्मार्ट कार्ड के लिए कैशलेस यात्रा को अपनाएं।

अधिकारियों का कहना है कि अगर मेट्रो में सफर करने वाले हर व्यक्ति ने मेट्रो शब्द का सही से इस्तेमाल किया तो वह कोरोना संक्रमण से बच सकता है। इसके लिए मेट्रो के हर कोच में जगह-जगह इन डिस्प्ले बोर्ड को लगाया गया है, ताकि अधिक से अधिक लोग इसके प्रति जागरूक हो। बता दें कि दिल्ली मेट्रो के साथ एक्वा लाइन मेट्रो और गुरुग्राम रैपिड रेल मेट्रो का संचालन 22 मार्च से ही बंद है, आगामी 7 सितंबर से तीनों का एक साथ संचालन शुरू होने जा रहा है।