Delhi Metro News: दिल्ली मेट्रो के साथ एक्वा लाइन और गुरुग्राम रैपिड रेल भी तैयार, सिर्फ ‘OK’ का इंतजार

0 201

नई दिल्ली, Delhi Metro News: लॉकडाउन खत्म होने के बाद दिल्ली मेट्रो ही नहीं, बल्कि नोएडा-ग्रेटर नोएडा में रफ्तार भरने वाली एक्वा लाइन मेट्रो और गुरुग्राम की रैपिड मेट्रो रेल भी रफ्तार भर सकती है। इन तीनों ही मेट्रो ने लॉकडाउन खत्म होने के बाद संचालन की पूरी तैयारी कर ली है। इसके तहत तीनों ही मेट्रो से जुड़े अधिकारी और कर्मचारी ट्रेनों की मेंटेनेंस की जांच कर रहे हैं।

लॉकडाउन खत्म होने के बाद की तैयारी तेज

बता दें कि जिस तरह से दिल्ली-एनसीआर में औद्योगिक गतिविधियां शुरू हो चुकी हैं और आने वाले दिनों में इसके रफ्तार पकड़ने के आसार हैं। जाहिर है ऐसे में सार्वजनिक परिवहन प्रणाली की जरूरत तेजी से महसूस होगी। ऐसे में दिल्ली-एनसीआर की लाइफलाइन बन चुकी Delhi Metro भी संचालन के लिए पूरी तरह तैयार है। इतना ही नहीं, दिल्ली मेट्रो रेल निगम (Delhi Metro Rail Corporation) के अंतर्गत चलने वाली गुरुग्राम रैपिड रेल भी संचालन के लिए पूरी तरह तैयार है। वहीं, नोएडा-ग्रेटर नोएडा के बीच रफ्तार भरने वाली एक्वा लाइन मेट्रो (Aqua Line Metro) की भी पूरी तैयारी है, सिर्फ एक मंजूरी के बाद ट्रेनें चलने लगेंगीं।

अपुष्ट सूत्रों के मुताबिक, बताया जा रहा है कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद मंजूरी मिलने के साथ ही तीनों मेट्रो (दिल्ली मेट्रो, गुरुग्राम रैपिड रेल मेट्रो और एक्वा लाइन मेट्रो) ने पूरी तैयारी कर ली है। तैयारी की कड़ी में दिल्ली मेट्रो की तरह ही एक्वा लाइन की ट्रेनें भी बीच-बीच में चक्कर लगाती हैं, जिससे मेंटेनेंस की समस्या नहीं आए। ऐसे में दिल्ली मेट्रो रेल निगम (Delhi Metro Rail Corpoation) की मेट्रो ट्रेनों में सफर करने वाले 50 लाख से अधिक यात्रियों के लिए जल्द अच्छी खबर आने वाली है। इनमें दिल्ली, गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत, गाजियाबाद, नोएडा, पलवल और बहादुरगढ़ समेत दर्जन भर शहरों के लाखों लोग शामिल हैं, जो मेट्रो संचालन के बाद इसका लाभ उठा सकेंगे।

मेट्रो ट्रेनें लगा चुकी हैं 3500 से ज्यादा चक्कर

दिल्ली मेट्रो की तैयारी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि मेट्रो ट्रेनें सीमित संख्या में रोजाना फेरे लगाती हैं। इसका मकसद तकनीकी खामियों को परखना है। इसकी जानकारी खुद DMRC ने 3 मई को अपने 26 स्थापना दिवस पर दी थी। दिल्ली मेट्रो ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि हाउस कीपिंग स्टाफ स्टेशनों की तमाम जगहों पर रोजाना साफ-सफाई कर रहा है। इसी के साथ लिफ्ट, एएफसी गेट, एस्केलेटर सहित यात्रियों के आवागमन के दौरान इस्तेमान होने वाली अन्य जगहों पर सफाई की गति तेज हो गई है। सफाई के साथ मेट्रो ट्रेनों की बोगियों में सैनिटाइजेशन का काम बीच-बीच में किया जाता है।

रात में रुक सकेंगे CISF कर्मी

DMRC के मुताबिक, मेट्रो स्टेशनों की सुरक्षा में तैनात केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के जवानों रात के दौरान सोने के लिए अपने घर नहीं जाना होगा। वे यहां पर रुक सकेंगे।

एक्वा लाइन भी मेट्रो तैयार

दिल्ली से सटे शहर नोएडा से ग्रेटर नोएडा तक चलने वाली एक्वा लाइन भी लॉकडाउन खत्म होने के बाद रफ्तार भरने के लिए तैयार है। संचालन के दौरान किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं आए, इसलिए समय-समय पर लॉकडाउन के दौरान भी यह नोएडा से ग्रेटर नोएडा रफ्तार भर रही है।

गुरुग्राम रैपिड रेल का संचालन भी होना तय

छह महीने से भी अधिक समय दिल्ली मेट्रो रेल निगम ही गुरुग्राम रैपिड रेल का भी संचालन कर रहा है। ऐसे में अगर दिल्ली मेट्रो का संचालन शुरू हुआ तो गुरुग्राम रैपिड रेल का भी संचालन शुरू हो जाएगा। बता दें कि गुरुग्राम में चलने वाले गुरुग्राम रैपिड मेट्रो रेल के जरिये सामान्य दिनों में रोजाना 60,000 से अधिक लोग सफर करते हैं। लॉकडाउन शुरू होने के साथ ही गुरुग्राम रैपिट मेट्रो रेल का संचालन बंद है।

50 लाख यात्रियों की लाइफलाइन बनी दिल्ली मेट्रो

लॉकडाउन से पहले सामान्य दिनों में दिल्ली मेट्रो में प्रतिदिन करीब 50 लाख लोग सफर कर रहे थे। यह आंकड़ा कई बार 58 हजार तक पहुंच चुका था। शाहीनबाग में धरना प्रदर्शन के दौरान दिल्ली मेट्रो को जबरदस्त लाभ हुआ था।

277 मेट्रो स्टेशनों के साथ चलती हैं ट्रेनें

फेज तीन की परियोजनाएं पूरी होने के बाद दिल्ली एनसीआर में मेट्रो का नेटवर्क 377 किलोमीटर और मेट्रो स्टेशनों की संख्या 274 हो गई है।

दिल्ली के अलावा एनसीआर में पहुंचा दिल्ली मेट्रो

वर्ष, 2002 में दिल्ली के शाहदरा से तीसहजारी के बीच शुरू हुई कुछ मिलोमीटर तक चलने वाली दिल्ली मेट्रो आज नोएडा, गाजियाबाद, बहादुरगढ़, गुरुग्राम और फरीदाबाद में भी अपनी सेवाएं दे रही है।