Delhi Metro स्टेशन पर लड़खड़ाकर गिरा यात्री, आप भी जानें कैसे CISF जवान ने बचाई जान

0 36


दिल्ली मेट्रो रेल निगम (Delhi Metro Rail Corporation) के स्टेशनों तैनान प्रशासनिक कर्मचारी ही नहीं, बल्कि सुरक्षा कर्मी भी हर समय अलर्ट रहते हैं। इसी कड़ी में केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआइएसएफ) के जवान के प्रयास से इंद्रप्रस्थ मेट्रो स्टेशन पर एक मेट्रो यात्री की जान बच गई। दरअसल, यात्रा के दौरान उत्तम नगर निवासी जावेद अली अचानक अचेत हो गए थे। जिसके बाद वहां तैनात जवान ने उन्हें कार्डियोपल्मोनरी रिससिटेशन (सीपीआर) दिया। इसके बाद में उन्हें अस्पताल में दाखिल कराया गया। वहां उनकी स्थिति अब बेहतर बताई जा रही है। वहीं, दिल्ली के नागरिक जावेद अली ने अपनी जान बचाने के लिए बल के सीआइएसएफ के कर्मी को धन्यवाद किया है। यह पहला मामला नहीं है, जब सीआइएसएफ के जवान ने किसी मेट्रो यात्री की जान बचाई है, तकरीबन हर महीने इस तरह के मामले सामने आते रहते हैं।


सीआइएसएफ अधिकारी ने बताया कि यह पूरी घटना बृहस्पतिवार की रात की है। द्वारका से नोएडा की ओर जाने वाली मेट्रो से एक यात्री इंद्रप्रस्थ मेट्रो स्टेशन पर उतरे थे। तभी सीसीटीवी फुटेज ऑब्जर्वर सीआइएसएफ के कॉन्स्टेबल अनिल गुंजा ने देखा कि मेट्रो से उतरते ही प्लेटफार्म संख्या-दो पर एक शख्स अचानक से गिर गया और बेहोश हो गया। इसकी सूचना तुरंत वरिष्ठ अधिकारियों को दे वे तुरंत घटनास्थल पर पहुंचे। उसने पाया कि यात्री बेहोश है और ठीक से सांस नहीं ले पा रहा है। लिहाजा उन्होंने तुरंत यात्री को सीपीआर देना शुरू किया। इससे यात्री को होश आ गया।


उधर, जावेद अली ने जवान को बताया कि वह उत्तम नगर में रहते हैं। इसके बाद में यात्री को कर्मियों की मदद से एम्बुलेंस द्वारा आगामी इलाज के लिए जीबी पंत अस्पताल भेज दिया गया। उधर सीआइएसएफ कर्मी समय-समय पर यात्री के स्वास्थ्य की जानकारी लेते रहे। फिलहाल उनकी हालत ठीक बताई जा रही है।

क्या है सीपीआर

कार्डियो पल्मोनरी रीससिटेशन एक जीवनरक्षक तकनीक है। हार्ट अटैक जैसा हालात यह बेहद अहम होता है। हार्ट अटैक की उस स्थिति में जब व्यक्ति का सांस चलना या हृदय की धड़कन रुक जाए। ऐसे मामलों में एम्बुलेंस भी मरीज के इमरजेंसी केयर की दिशा में अभिन्न भाग के रूप में अपनी भूमिका निभाती है। अक्सर यह जीवनरक्षक साबित होता है।