दिल्ली बाढ़ पर ब्लेम गेम! उपराज्यपाल ने सीएम अरविंद केजरीवाल की मौजूदगी में मंत्री को दे दी ये नसीहत

6

देश की राजधानी दिल्ली का पानी से बुरा हाल है. मध्य दिल्ली में व्यस्त आईटीओ चौराहे और राजघाट के जलमग्न हो जाने से शुक्रवार को वाहनों की आवाजाही प्रभावित होती नजर आयी. लोग घंटों तक जाम में फंसे रहे. दिल्ली यातायात पुलिस ने शहर के कई हिस्सों में बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न होने के मद्देनजर लोगों से सोच-समझकर यात्रा करने की सलाह दी है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंत्री आतिशी और सौरभ भारद्वाज के साथ विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की इमारत के पास क्षतिग्रस्त नाले का निरीक्षण आज किया.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग कारण से पानी आ रहा है जैसे ITO पर यहां नाले के क्षतिग्रस्त होने की वजह से आया है, कहीं यमुना के कारण पानी आया है. अब राहत मिलनी शुरू हो जाएगी. धीरे-धीरे पानी नीचे जाने लगा है। अभी जलस्तर 208.38 तक आ गया है. दिल्ली में पानी की कटौती पर केजरीवाल ने कहा कि बाढ़ आने की वजह से यमुना का पानी पंप रूम, मशीन में आ गया है. यदि हम प्लांट को चलाएंगे तो उनमें करंट आएगा. जब तक पानी का स्तर कम नहीं होगा और पानी के स्तर कम होने के 24 घंटे बाद भी हम मशीन नहीं चला सकते क्योंकि मशीनों को सुखाने में भी समय लगेगा.

ब्लेम गेम ना करने की नसीहत

दिल्ली के उपराज्यपाल विनय कुमार सक्सेना ने कहा कि जिस तरह से यहां काम हो रहा है, हम सफल होंगे. यमुना का बहाव बहुत तेज है. उसे रोकना जरूरी है. यह समय किसी को दोष देने या टिप्पणी करने का समय नहीं है. अभी हमें टीम वर्क करने की जरूरत है. मैं भी बहुत कुछ कह सकता हूं लेकिन अभी इसकी जरूरत नहीं है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और मीडिया की मौजूदगी में भारद्वाज ने उपराज्यपाल से अफसरों की शिकायत की जिसके जवाब में सक्सेना ने उन्हें टीम वर्क के साथ काम करने और अभी ब्लेम गेम ना करने की नसीहत दे डाली.

मिनाक्षी लेखी ने साधा आप पर निशाना

केंद्रीय मंत्री मिनाक्षी लेखी ने कहा कि दिल्ली ने उन लोगों को वोट दिया है जो दिल्ली की मदद के लिए आज तैयार नहीं हैं. हर समय जब विपदा आती है तब काम करने की जगह वे(AAP) बोलते हैं कि ये गृह मंत्रालय का काम है, ये उपराज्यपाल ने किया है, हरियाणा पानी छोड़ रहा है, पर काम नहीं करते. उनके बयान में पंजाब खो जाता है…कोरोना के समय में केंद्र ने उन्हें ऑक्सीजन दिया था लेकिन उनके पास ऑक्सीजन रखने के पर्याप्त साधन नहीं थे.

यातायात पुलिस ने दी सलाह

इधर यातायात पुलिस ने ट्विटर पर जानकारी दी कि जलभराव के कारण गीता कॉलोनी से शांति वन और इसके विपरीत रास्ता बंद हो गया. आम जनता से अनुरोध है कि वे यहां जाने से बचें और इसे ध्यान में रखकर यात्रा करें. गीता कॉलोनी फ्लाईओवर से राजघाट और आईएसबीटी, कश्मीरी गेट की ओर भी वाहनों की आवाजाही प्रतिबंधित की गयी है. यातायात पुलिस ने कहा कि बाढ़ का पानी आने के कारण विकास मार्ग पर आईटीओ की ओर यातायात प्रभावित है. यात्रियों को सलाह दी जाती है कि वे इस हिस्से पर आने से बचें और अक्षरधाम-निजामुद्दीन-आईटीओ के रास्ते एनएच 24 का मार्ग चुनें.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.