ईडी की अर्जी पर अरविंद केजरीवाल को तगड़ा झटका, 17 फरवरी को कोर्ट के सामने होना होगा हाजिर

9

दिल्ली शराब घोटाला मामले में राउज एवेन्यू कोर्ट ने ईडी की शिकायत पर संज्ञान लिया और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को 17 फरवरी, 2024 के लिए समन जारी किया है. इधर इस मामले में आम आदमी पार्टी का बयान भी आया है. आप ने कहा, कोर्ट के आदेश का फिलहाल अध्ययन कर रहे हैं.

समन का पालन नहीं करने पर ईडी ने खटखटाया था कोर्ट का दरवाजा

मनी लॉन्ड्रिंग मामले में केंद्रीय जांच एजेंसी द्वारा जारी समन का पालन नहीं करने पर ईडी ने अरविंद केजरीवाल के खिलाफ अदालत का दरवाजा खटखटाया था. मालूम हो ईडी ने पूछताछ के लिए अरविंद केजरीवाल को पांच बार समन जारी किया है, लेकिन आप के संयोजक पूछताछ के लिए हाजिर नहीं हुए.

केजरीवाल के समन पर आया AAP का जवाब, कहा- कोर्ट के ऑर्डर का कर रहे स्टडी

अदालत द्वारा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को 17 फरवरी को तलब किए जाने पर आम आदमी पार्टी ने कहा, फिलहाल कोर्ट के आदेश का अध्ययन कर रहे हैं, जरूरी कदम उठाएंगे. आप प्रवक्ता प्रियंका कक्कड़ ने कहा, कोर्ट का ऑर्डर आया है, हमारी टीम अभी ऑर्डर को स्टडी कर रही है. जो भी कानूनी कदम होंगे हम वे लेंगे. हम कोर्ट में बताएंगे कि ED के सारे समन अभी तक गैरकानूनी रहे हैं.

बीजेपी ने केजरीवाल से मांगा इस्तीफा

बीजेपी प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने कहा, अरविंद केजरीवाल को आज नैतिक तौर पर इस्तीफा देना चाहिए. कोर्ट ने आपके खिलाफ ये आदेश क्यों दिया?. ये इसलिए हो रहा है क्योंकि अरविंद केजरीवाल जानते हैं कि वे शराब घोटाले के मास्टरमाइंड हैं. कांग्रेस पार्टी ने भी भ्रष्टाचार और अरविंद केजरीवाल के खिलाफ एक प्रेस वार्ता की है. आज अरविंद केजरीवाल अन्ना हजारे के साथ नहीं हैं बल्कि लालू यादव और सोनिया गांधी जैसे नेताओं के साथ हैं इसलिए अब वे भ्रष्टाचार को सह सकते हैं.

तलाशी लेने के बजाए केजरीवाल के पीए के घर में बैठे रहे ईडी के अधिकारी: आतिशी

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निजी सहायक (पीए) बिभव कुमार के आवास पर छापा मारने पहुंचे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारी तलाशी लेने के बजाए उनके घर के ‘लिविंग रूम’ में बैठे रहे. दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी ने बुधवार को यह दावा किया. उन्होंने कहा कि अधिकारियों ने किसी कमरे की तलाशी नहीं ली और न ही कोई दस्तावेज खंगाला.

ईडी ने बुधवार को दिल्ली में 10 से 12 ठिकानों पर छापेमारी की थी

गौरतलब है कि दिल्ली में ईडी ने मंगलवार को धन शोधन निवारण अधिनियम के तहत अपनी जांच के हिस्से के रूप में 10 से 12 ठिकानों पर छापेमारी की थी. ईडी आप और कुछ अधिकारियों पर एक डीजेबी ठेकेदार से 21 करोड़ रुपये की रिश्वत लेने के आरोपों के मामले की जांच कर रही है. बिभव कुमार के अलावा, आम आदमी पार्टी (आप) के कोषाध्यक्ष एन डी गुप्ता के कार्यालय, पूर्व डीजेबी सदस्य शलभ कुमार, एक चार्टर्ड अकाउंटेंट (सीए) पंकज मंगल और आप से जुड़े कुछ अन्य लोगों के आवास पर एजेंसी के अधिकारियों ने छापेमारी की थी.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.