Delhi Coronavirus News Update: दिल्ली में दोगुनी की जाएगी कोरोना की जांच, सीएम केजरीवाल ने किया एलान

0 249

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अगर कोई भी मास्क पहने हुए नहीं मिलेगा तो कार्रवाई की जाएगी सख्ती की जाएगी।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ रहे मरीजों को लेकर बुलाई गई समीक्षा बैठक के बाद कहा कि कोरोना को लेकर टेस्ट की संख्या दोगुना होगी। अगले 1 हफ्ते के अंदर रोजाना टेस्ट की संख्या 20000 से बढ़ाकर 40000 की जाएगी। कोरोना से ठीक होने के बाद लोगों को लक्षण होने और जरूरत होने पर पल्स ऑक्सीमीटर और जरूरत पड़ी तो ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की व्यवस्था उनके घर पर कर दी जाएगी। अगर कोई भी मास्क पहने हुए नहीं मिलेगा तो कार्रवाई की जाएगी, सख्ती की जाएगी। यह अच्छा है कि लोगों में भरोसा आया है लेकिन लोग समस्या को अनदेखा ना करें। मास्क जरूर पहने शारिरिक दूरी का पालन करें। 14 जुलाई के बाद दिल्ली में एक भी व्यक्ति की होम आइसोलेशन में मौत नहीं हुई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के मामलों में थोड़ी बढ़ोतरी नज़र आ रही है। 17 अगस्त के बाद से नए मामले 1200-1400 रोजाना के आसपास घूम रहे हैं। इस बीच मंगलवार को शाम की रिपोर्ट में 1544 नए मामले सामने आए हैं। बुधवार को शाम को जो रिपोर्ट जारी की जाएगी उसमें 1693 नए मामले आएंगे।

इसको लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना की इंटेंसिटी बढ़ रही है ऐसा नज़र नहीं आ रहा। रिकवरी रेट 90 फीसद से ऊपर है। डेथ रेट अगस्त में 1.4 फीद है। देश में सबसे कम है। अस्पतालों में 2900 मरीज़ दिल्ली के हैं और 800 मरीज़ बाहर के हैं। दिल्ली में कुल 14,130 बेड हैं और 10,448 बेड खाली हैं। एम्बुलेंस भी पर्याप्त हैं। स्थिति नियंत्रण में है लेकिन कुछ मामले बढ़ रहे हैं।

यहां पर बता दें कि दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, मंगलवार को 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के कुल 1544 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 17 लोगों की मौत हो गई है। इसी के साथ राजधानी दिल्ली में कुल संक्रमितों की संख्या 1,64,071 हुई। इसी के साथ अब तक कुल 1,47,743 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। कोरोना वायरस से दिल्ली में अब तक कुल 4330 मरीजों की मौत हो चुकी है। दिल्ली में अभी कुल 11,998 सक्रिय मामले हैं। राजधानी दिल्ली में मंगलवार को 1155 लोगों को डिस्चार्ज भी किया गया है।

दिल्ली सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल स्वयं इस व्यवस्था पर नजर रख रहे हैं। दिल्ली में की गई व्यवस्था के तहत हल्के लक्षण वाले मरीज घर पर रहकर इलाज कराते हैं। जो घर के अन्य सदस्यों से अपने को अलग रखते हैं। सरकार ने कहा है कि मरीजों को पल्स ऑक्सीमीटर उपलब्ध कराने की व्यवस्था पहले की तरह ही जारी रहे। मरीज अपने ऑक्सीजन के स्तर की जांच करते रहें। ऑक्सीजन का स्तर कम होने पर तुरंत एंबुलेंस बुलाएं और मरीज को अस्पताल ले जाएं।

गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण के शुरुआती चरण में दिल्ली टॉप संक्रमित राज्यों में हुआ करती थी, लेकिन अब हालात सुधर गए हैं फिलहाल दिल्ली छठे नंबर पर है। यहां अन्य राज्यों के मुकाबले सबसे कम नए मरीज बढ़े हैं।