कोरोना वैक्सीन की वजह से युवाओं में बढ़ रहा हार्ट अटैक का खतरा? ICMR स्टडी में हुआ बड़ा खुलासा

6

भारत में कोरोना वायरस लगभग पुरी तरह से खत्म हो चुका है, हालांकि अब भी 10-20 नये मामले सामने आ रहे हैं. वैक्सीन के जरिए कोरोना वायरस पर नियंत्रण पा लिया गया है, लेकिन इसके साइडइफेक्ट को लेकर भी कई दावे किए जा रहे हैं. दावा किया जा रहा है कि वैक्सीन के कारण भारत में हार्ट अटैक के मामले तेजी से बढ़े हैं. दावा किया जा रहा है कि युवाओं में ऐसे मामले अधिक देखे जा रहे हैं. इधर ऐसे दावे पर ‘इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च’ (ICMR) का बयान भी सामने आ चुका है.

हार्ट अटैक के बढ़ते मामले पर ICMR की रिपोर्ट में क्या ?

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च की स्टडी के अनुसार कोरोना वैक्सीन की वजह से युवाओं में हार्ट अटैक की वजह से अचानक मौत का खतरा नहीं बढ़ा है. आईसीएमआर ने बताया, कोरोना के कारण अस्पताल में भर्ती होने वालों में अचानक मृत्यु के जो मामले सामने आए, उसमें पारिवारिक इतिहास और कुछ जीवनशैली व्यवहारों ने अचानक मृत्यु की संभावना को बढ़ा दिया है. रिसर्च में यह बात साफ की गई है कि जिन युवाओं में ऐसे मौत के मामले बढ़े हैं, या तो वे कोरोना से काफी समय तक पीड़ित रहे, या फिर ज्यादा ड्रिंक किया हो. रिसर्च में यह भी पाया गया कि जो कोरोना से ज्यादा पीड़ित थे और उसके बाद उन्होंने बहुत ज्यादा एक्सरसाइज या शरीरीक एक्टिविटी किया है, वैसे केस में मौत के मामले बढ़े हैं.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने दिया बड़ा बयान

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने आईसीएमआर रिसर्च का हवाला देते हुए रविवार को गुजरात के भावनगर में कहा, जो लोग पहले से ही गंभीर रूप से कोराना से पीड़ित थे, उन्हें दिल का दौरे और कार्डियक अरेस्ट से बचने के लिए एक या दो साल तक अधिक महनत करने से बचना चाहिए.

भारत में कोविड-19 के 18 नये मामले पाये गये

भारत में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 18 नये मामले सामने आए, जबकि उपचाराधीन मरीजों की संख्या 186 दर्ज की गई. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को यह जानकारी दी. देश में कोविड-19 के संक्रमण से जान गंवाने वाले लोगों की कुल संख्या 5,33,295 है, जबकि कोरोना वायरस से संक्रमित होने वालों की कुल संख्या 4,50,01,595 है. मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक, संक्रमण से उबरने वाले लोगों की कुल संख्या बढ़कर 4,44,68,112 हो गई है. वहीं, देश में संक्रमण से ठीक होने की दर 98.81 प्रतिशत, जबकि मृत्यु दर 1.19 प्रतिशत है. वेबसाइट के अनुसार, भारत में अब तक कोविड-19 रोधी टीकों की कुल 220.67 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.