कोविड-19 के नये वैरिएंट जेएन-1 ने बढ़ाई दिल्ली की टेंशन! सौरभ भारद्वाज ने कही ये बात

13

देश की राजधानी दिल्ली में कोविड-19 के सब-वैरिएंट जेएन.1 का मामला सामने आने के बाद लोग चिंतित हैं. इस बीच, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि कोविड टेस्ट की संख्या बढ़ाई गई, बुधवार को 636 नमूनों की जांच की गई. कोरोना वायरस के जेएन.1 स्वरूप से संक्रमित पाई गई महिला को अस्पताल से छुट्टी दी गई, उन्हें कोई गंभीर समस्या नहीं थी. सौरभ भारद्वाज ने कहा कि फिलहाल कोविड-19 के चार मरीज अस्पताल में इलाजरत हैं, बीमार होने पर लोग भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें.

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि वाले सभी नमूनों को जीनोम अनुक्रमण के लिए भेजने का आदेश दिया गया ताकि पता लगाया जा सके कि कहीं यह वायरस के नये स्वरूप का संक्रमण तो नहीं है.

कितना खतरा है कोरोना के नये वैरिएंट से

लोगों के मन में एक सवाल आ रहा कि कोरोना का नया वैरिएंट कितना खतरनाक है ? तो कोरोना वायरस के जेएन.1 वैरिएंट पर बढ़ती चिंताओं के बीच, डब्ल्यूएचओ की पूर्व मुख्य वैज्ञानिक डॉ. सौम्या स्वामीनाथन ने पिछले दिनों कहा था कि लोगों को आश्वस्त किया गया है कि तत्काल इस नये वैरिएंट से घबराने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि हमें अलर्ट रहने की जरूरत है, लेकिन हमें इस वैरिएंट से घबराने की आवश्यकता नहीं है. ऐसा इसलिए क्योंकि हमारे पास इसको लेकर किसी तरह का कोई डेटा उपलब्ध नहीं है कि यह वैरिएंट जेएन.1 अधिक गंभीर है या यह मौत का कारक भी बन सकता है.

किनको कोरोना के नये संक्रमण से ज्यादा खतरा

इस बीच, यूके की हेल्थ सेक्यूरिटी एजेंसी और Office for National Statistics ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि 18 से 44 वर्ष की आयु के लोगों में कोरोना का नया वैरिएंट तेजी से फैल रहा है. यही वजह है कि इन आयुवर्ग के लोगों को ज्यादा सावधानी बरतने की जरूरत है.

JN.1 के लक्षण क्या हैं?

कोविड वैरिएंट JN.1 के लक्षण क्या हैं? इस बारे में लोग गूगल पर सर्च कर रहे हैं. तो आइए जानते हैं कोरोना के नए वैरिएंट जेएन.1 के लक्षण क्या हैं..

-बुखार

-थकान

-नाक बहना

-गले में खराश

-सिरदर्द

-खांसी

-कंजेशन

-कुछ मामलों में स्ट्रो इंटेस्टाइनल समस्याएं भी संक्रमित में नजर आती है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.