Nizamuddin Coronavirus: जमात में गए पार्षद पति भी कोरोना पॉजिटिव, पूरा परिवार क्वारंटाइन

0 177

दिल्ली न्यूज़ 24 रिपोर्टर। दक्षिणी दिल्ली नगर निगम की एक पार्षद के पति कोरोना वायरस के संक्रमण की चपेट में आ गए हैं। हालांकि निगम पार्षद में अभी कोरोना संक्रमण का कोई लक्षण नजर नहीं आया है। प्रशासन ने पार्षद के पूरे परिवार को घर में ही क्वारंटाइन कर दिया है, सभी की निगरानी की जा रही है। पार्षद के पति निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी जमात में गए थे। प्रशासन अभी इस मामले में ज्यादा कुछ कहने से परहेज कर रहा है।

जानकारी के अनुसार पार्षद के पति की तबीयत कुछ दिनों पहले खराब हुई थी। इसके बाद इन्होंने अपनी जांच एक निजी लैब में कराई। जांच के नतीजे में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई, जिसके बाद मामले की जानकारी प्रशासन को हुई। प्रशासन के अनुसार कोरोना संक्रमण के बारे में बुधवार को पता चला। जिसके बाद तत्काल इनके पूरे परिवार को क्वारंटाइन में रहने के निर्देश दिए गए। अभी पार्षद के पति बाहरी दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती हैं।

प्रशासन को हो रही चिंता

प्रशासन को अब इस बात की चिंता हो रही है कि पार्षद के पति कई लोगों के संपर्क में आए होंगे। जनप्रतिनिधि के परिवार से जुड़े होने की वजह से इनके संपर्क में कई निगम के अधिकारी व कर्मचारी भी होंगे। इसके अलावा इनकी पत्नी भी कई लोगों से मिली होंगी। कई जगह इनकी ओर से राहत कार्य भी चलाया गया। ऐसे में प्रशासन इस बात का पता लगाने में जुटा है कि कितने लोगों से ये संपर्क में आए हैं।

जमातियों के व्यवहार से स्वास्थ्यकर्मी परेशान

निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी मरकज से निकाले गए जमातियों के व्यवहार से स्वास्थ्यकर्मी परेशान हैं। दरअसल यह इलाज में असहयोग तो कर ही रहे हैं, साथ ही स्वास्थ्य कर्मियों के साथ लगातार अभद्रता भी कर रहे हैं। नरेला इलाके के भोरगढ़ में डीडीए के फ्लैटों व सुल्तानपुरी के इडब्ल्यूएस फ्लैटों में जमात के एक हजार से अधिक लोगों को क्वारंटाइन किया गया है। इसमें नरेला में सबसे अधिक लोगों को क्वारंटाइन किया गया है।

सूत्रों ने बताया कि यह लोग स्वास्थ्य कर्मचारियों के साथ बदसलूकी कर रहे हैं। इसके साथ ही क्वारंटाइन सेंटर में इधर-उधर थूक रहे हैं और गंदगी भी फैला रहे हैं। वहीं इसी तरह का व्यवहार सुल्तानपुरी में भी हो रहा है। यही नहीं जिन लोगों में कोरोना के लक्षण मिल रहे हैं। उन्हें स्वास्थ्य विभाग की टीम अस्पताल में भर्ती करा रही है, लेकिन यह लोग नमूने देने में आनाकानी कर रहे हैं।