हृदय संबंधी समस्याएं भी खड़ी कर सकता है कोरोना वायरस, जानें इस बारे में.

0 128

वा‍शिंगटन, कोरोना वायरस (कोविड-19) से कई गंभीर समस्याओं का भी खतरा बढ़ गया है। अब एक नए अध्ययन में पाया गया है कि इस खतरनाक वायरस के चलते हार्ट अटैक और हार्ट फेल होने समेत हृदय संबंधी कई समस्याएं खड़ी हो सकती हैं। कोरोना वायरस ब्लड क्लाटिंग (रक्त का थक्का) का भी कारण बन सकता है। इस समस्या के चलते स्ट्रोक का खतरा बढ़ सकता है।

मौत तक का कारण बनती हैं ये समस्‍याएं

अमेरिका की वर्जीनिया यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के अनुसार, कोरोना वायरस से पीड़ित रोगियों में श्वसन संबंधी जटिलताओं पर ज्यादा ध्यान दिया जाता है, लेकिन हृदय संबंधी समस्याओं के बारे में कम बातें की जाती हैं। ये समस्याएं मौत तक का कारण बन सकती हैं। वर्जीनिया यूनिवर्सिटी में डिपार्टमेंट ऑफ इमरजेंसी मेडिसिन के शोधकर्ता विलियम ब्रैडी ने कहा, ‘हमें उम्मीद है कि इस अध्ययन से चिकित्सक कोरोना वायरस और इसका हृदय की सेहत पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में और जागरुक होंगे।’

हार्ट फेल होने के मामलों से चिंता बढ़ी

शोधकर्ताओं के अनुसार, कोरोना पीड़ितों में खासतौर पर हार्ट फेल होने के मामलों से चिंता बढ़ गई है। कोरोना से पहली बार संक्रमित पाए गए कई रोगियों में यह समस्या पाई गई है। इनमें से आधे से ज्यादा रोगियों में यह पता चल नहीं सका कि वे पहले से हाई ब्लड प्रेशर (उच्च रक्तचाप) या हृदय रोग से पीड़ित थे या नहीं। हाल में एक अध्ययन में यह पता चला था कि कोरोना वायरस के चलते एक्यूट किडनी इंजरी का खतरा भी हो सकता है।