दिल्ली में कोरोना के मामले 35 फीसद घटे, फिर भी डॉक्टरों ने चेताया

0 74

सफदरजंग अस्पताल के प्रिवेंटिव व कम्युनिटी मेडिसिन के विशेषज्ञ डॉ. जुगल किशोर ने कहा कि अगले कुछ दिनों में मौत के मामलों में भी कमी आ सकती है। सितंबर में मामले अधिक आए। उस दौरान कोरोना से पीड़ित हुए अनेक गंभीर मरीज अब भी उपचाराधीन हैं।

नई दिल्ली (दिल्ली न्यूज़24) राजधानी दिल्ली में कोरोना के मामलों में कमी आने लगी है। लिहाजा, इस माह शुरुआती 10 दिनों में कोरोना के मामलों में एक तिहाई से ज्यादा (34.88 फीसद) की कमी आई है, लेकिन मौत की संख्या बढ़ी है। इसके मद्देनजर डॉक्टर कहते हैं कि नए मामलों में कमी आने से दिल्ली के लोगों को थोड़ी राहत मिली है। फिर भी कोरोना को अभी हल्के में नहीं लिया जाना चाहिए।

डॉक्टर कहते हैं कि बचाव के नियमों का ठीक से पालन नहीं किया गया तो मामले थोड़े बढ़ भी सकते हैं। यदि लोग घर से बाहर निकलने पर ठीक से मास्क पहने, शारीरिक दूरी के नियम का पालन करें व हाथ स्वच्छ रखें, तो संक्रमण को नियंत्रित रखा जा सकता है। दरअसल, सितंबर में कोरोना के मामले अधिक आए।

खास तौर पर 11 से 20 सितंबर के बीच सबसे अधिक 41,229 लोग कोरोना की चपेट में आए, जबकि एक से 10 अक्टूबर के बीच 26,844 मामले आए। इस तरह 11 से 20 सितंबर के मुकाबले इस माह के शुरुआती 10 दिनों में 14,382 मामले कम आए, लेकिन 63 मरीजों की मौत अधिक हुई हैं। यदि सितंबर के शुरुआती 10 दिन में हुए मौत के मामलों से तुलना करें, तो इस माह के शुरुआती 10 दिनों में 157 मरीजों (70.72 फीसद) की मौत अधिक हुई।

सफदरजंग अस्पताल के प्रिवेंटिव व कम्युनिटी मेडिसिन के विशेषज्ञ डॉ. जुगल किशोर ने कहा कि अगले कुछ दिनों में मौत के मामलों में भी कमी आ सकती है। सितंबर में मामले अधिक आए। उस दौरान कोरोना से पीड़ित हुए अनेक गंभीर मरीज अब भी उपचाराधीन हैं।

नए मामलों में कमी आने से अस्पतालों में मरीज कम होने लगे हैं। इसलिए कुछ दिनों में मौत के मामले भी कम हो सकते हैं। वैसे भी रविवार को 29 मरीजों की मौत हुई थी, जो 17 दिनों में सबसे कम है। फिर भी सतर्कता बहुत जरूरी है। प्रदूषण भी बढ़ रहा है, इसलिए बेवजह घर से बाहर न निकलें। बाहर निकलने पर मास्क जरूर पहनें।