लोकसभा चुनाव: आखिर किस आधार पर कांग्रेस को केवल एक ही सीट दिल्ली में देना चाहती है ‘आप’?

7

लोकसभा चुनाव के चंद दिन शेष हैं. दिल्ली में कांग्रेस पूरा जोर लगा रही है. पिछले दिनों पार्टी की ओर से यहां एक बड़ी रैली का आयोजन किया गया था जिसे पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने संबोधित किया था और कार्यकर्ताओं का हौंसला बढ़ाया था. पिछले दो लोकसभा चुनाव की बात करें तो दिल्ली में मोदी लहर साफ नजर आई थी. यही वजह है कि इस बार के चुनाव में विपक्ष एकजुट होकर चुनावी समर में उतरने की तैयारी कर रहा था लेकिन इसे भी झटका लगता दिख रहा है. साल 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने दिल्ली की सातों सीट पर कब्जा किया था. यदि बात साल 2014 के लोकसभा चुनाव की करें तो इस साल भी बीजेपी ने कांग्रेस और ‘आप’ को परास्त किया था. वर्तमान परिदृष्य को देखकर लगता है कि ‘आप’, भाजपा व कांग्रेस के बीच त्रिकोणीय मुकाबला दिल्ली में इस बार देखने को मिलेगा.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.