कांग्रेस ने चुनावी राज्यों के लिए स्क्रीनिंग कमेटी का किया गठन, गौरव गोगोई को राजस्थान की जिम्मेदारी

44

कांग्रेस ने राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और तेलंगाना के विधानसभा चुनावों के लिए बुधवार को स्क्रीनिंग कमेटी का गठन किया जिसमें पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं को स्थान दिया गया है. पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने चुनावी राज्यों के लिए स्क्रीनिंग कमेटी के गठन के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी.

गौरव गोगोई को राजस्थान की जिम्मेदारी

राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए गठित कांग्रेस की स्क्रीनिंग कमेटी की अध्यक्षता पार्टी सांसद गौरव गोगोई करेंगे तथा गणेश गोदियाल और अभिषेक दत्त सदस्य होंगे. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा और कुछ अन्य नेता इस समिति में पदेन सदस्य होंगे.

मध्य प्रदेश स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष होंगे जितेंद्र सिंह

मध्य प्रदेश के लिए गठित स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष पार्टी महासचिव जितेंद्र सिंह होंगे. अजय कुमार लल्लू और सप्तगिरि उलका इसमें सदस्य होंगे. पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और दिग्विजय सिंह और कुछ अन्य वरिष्ठ नेता इसमें पदेन सदस्य होंगे.

छत्तीसगढ़ स्क्रीनिंग कमेटी की अध्यक्षता अजय माकन करेंगे

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अजय माकन छत्तीसगढ़ के लिए गठित स्क्रीनिंग कमेटी की अध्यक्षता करेंगे. एल हनुमनतैया और नेटा डिसूजा इसमें सदस्य होंगे. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, उपमुख्यमंत्री टीएस सिंह देव, कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष दीपक बैज, प्रभारी कुमारी सैलजा और कुछ अन्य नेता इसमें पदेन सदस्य होंगे.

के मुरलीधरन को तेलंगाना की जिम्मेदारी

कांग्रेस सांसद के मुरलीधरन तेलंगाना के लिए गठित स्क्रीनिंग कमेटी की अध्यक्षता करेंगे. बाबा सिद्दीकी और जिग्नेश मेवानी इसके सदस्य होंगे. प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रेवंत रेड्डी और कुछ अन्य नेता इसके पदेन सदस्य होंगे.

क्या है स्क्रीनिंग कमेटी का काम

स्क्रीनिंग कमेटी हर सीट पर कुछ संभावित उम्मीदवारों के नाम तय करके पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति को भेजती है जहां उम्मीदवार के नाम पर अंतिम मुहर लगती है. इन सभी राज्यों में इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होना है.

कर्नाटक के कांग्रेस नेताओं के साथ आलाकमान की बैठक

इधर लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को पार्टी की कर्नाटक इकाई के वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक की. बैठक में अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा करने के साथ ही राज्य से कम से कम 20 लोकसभा सीट जीतने का लक्ष्य तय किया गया.

भ्रष्टाचार को लेकर राहुल गांधी ने दिया कड़ा संदेश

सूत्रों ने बताया कि इस बैठक में राहुल गांधी ने यह कड़ा संदेश भी दिया कि कांग्रेस की सरकार में किसी तरह का कोई भ्रष्टाचार नहीं होना चाहिए. पार्टी मुख्यालय में हुई बैठक में खरगे और राहुल गांधी के अलावा कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, पार्टी महासचिव एवं कर्नाटक प्रभारी रणदीप सुरजेवाला, मुख्यमंत्री सिद्धरमैया, उपमुख्यमंत्री एवं कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डीके शिवकुमार और कई अन्य नेता मौजूद थे.

5 गारंटी को पूरा करने की दिशा में अथक प्रयास कर रहे : खरगे

बैठक के बाद खरगे ने ट्वीट कर कहा, ‘‘हम साथ मिलकर 6.5 करोड़ कन्नड़वासियों के लिए प्रगति और कल्याण का एक नया अध्याय लिख रहे हैं. हम अपनी 5 ‘गारंटी’ को पूरा करने की दिशा में अथक प्रयास कर रहे हैं, जिनमें से सभी कार्यान्वयन के अंतिम चरण में हैं. एक ऐतिहासिक जनादेश, एक बड़ी जिम्मेदारी भी लाता है.

कांग्रेस ने कर्नाटक में लोकसभा की 20 से अधिक सीटें जीतने का रखा लक्ष्य

सुरजेवाला ने कहा, आज कर्नाटक के वरिष्ठ नेताओं की बैठक हुई. हमने इस बैठक में आगामी संसदीय चुनाव हेतु कुछ महत्वपूर्ण निर्णय लिए. उन्होंने बताया, एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया कि पार्टी संगठन के एक वरिष्ठ नेता और एक मंत्री हर एक संसदीय सीट के प्रभारी होंगे. जब तक संसद का चुनाव नहीं हो जाता, पार्टी संगठन की तैयारी की जिम्मेदारी उनकी होगी. सुरजेवाला ने कहा कि पार्टी राज्य की कुल 28 लोकसभा सीटों में से कम से कम 20 सीट जीतने के लक्ष्य को लेकर काम करेगी, हालांकि प्रयास यह भी होगा कि सभी सीटों पर जीत दर्ज की जाये.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.