अब घर बैठे सुन सकेंगे Golden Temple से गुरबानी, कमेटी ने शुरू किया YouTube चैनल

59

Gurbani Golden Temple : शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) ने यहां स्वर्ण मंदिर से ‘गुरबानी’ के प्रसारण के लिए रविवार को अपना यूट्यूब चैनल शुरू किया. वहीं, एसजीपीसी अध्यक्ष हरजिंदर सिंह धामी ने कमेटी को कमजोर करने का षड्यंत्र करने को लेकर प्रदेश की आम आदमी पार्टी (आप) सरकार की आलोचना की. इस चैनल का नाम ‘एसजीपीसी श्री अमृतसर’ रखा गया है और यह यूट्यूब और फेसबुक पेज पर उपलब्ध होगा. धामी ने स्वर्ण मंदिर परिसर में मंजी साहिब दीवान हॉल से एक संक्षिप्त धार्मिक समारोह के दौरान बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं की उपस्थिति के बीच इस चैनल की शुरूआत की.

कब किया जाएगा चैनल पर गुरबानी का प्रसारण ?

चैनल पर तड़के साढे़ तीन बजे से सुबह साढे़ आठ बजे तक, दोपहर 12:30 बजे से ढाई बजे तक और शाम 6:30 से रात 8:30 बजे तक गुरबानी का प्रसारण किया जाएगा. अपने संबोधन में धामी ने कहा कि गुरबानी के प्रसारण के सभी अधिकार एसजीपीसी के पास होंगे और दूसरा कोई चैनल इसका प्रसारण नहीं कर पाएगा. उन्होंने कहा कि एसजीपीसी जल्द ही अपना उपग्रह चैनल शुरू करेगा, जिसकी प्रक्रिया जारी है. धामी ने कहा कि पंजाब सरकार को एसजीपीसी के मामलों में हस्तक्षेप करना बंद कर देना चाहिए.

‘एसजीपीसी अपने सभी धार्मिक कार्य करने में सक्षम’

उन्होंने कहा, ‘‘पंजाब सरकार को सिख धार्मिक मामलों के बजाय अपने कामकाज पर ध्यान देना चाहिए, क्योंकि एसजीपीसी अपने सभी धार्मिक कार्य करने में सक्षम है. इसलिए, हमें पंजाब सरकार से किसी प्रकार के मदद की जरुरत नहीं है. एसजीपीसी अपना चैनल शुरू करने में सक्षम है.’’ उन्होंने आरोप लगाया कि पंजाब सरकार सिख संस्था (एसजीपीसी) को कमजोर करने की साजिश कर रही है.

‘सत्तारूढ़ आप और एसजीपीसी के बीच तकरार’

अमृतसर स्थित सिख मंदिर से गुरबानी के प्रसारण के अधिकार के मुद्दे पर प्रदेश में सत्तारूढ़ आप और एसजीपीसी के बीच तकरार चल रही है. एसजीपीसी का कहना है कि गुरबानी के प्रसारण का अधिकार सिखों की शीर्ष संस्था के पास सुरक्षित रहना चाहिए, जबकि मुख्यमंत्री भगवंत मान ने सभी टीवी चैनलों पर इसके मुफ्त प्रसारण की हिमायत कर रहे हैं.

पीटीसी चैनल गुरबानी प्रसारित करने के लिए अधिकृत

यूट्यूब चैनल की शुरूआत किये जाने के मौके पर अपने संबोधन में धामी ने कहा, ‘‘संगत की मांग के अनुसार वर्तमान में पीटीसी चैनल को गुरबानी प्रसारित करने के लिए अधिकृत किया गया है. एसजीपीसी ने इस संबंध में पीटीसी प्रबंधन से अपील की थी और वह सहमत हो गया है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसके साथ ही, अपने आधिकारिक यूट्यूब और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर गुरबानी के प्रसारण के लिए एसजीपीसी द्वारा चयन की गई कंपनी को भुगतान किया जाने वाला 12 लाख रुपये का मासिक खर्च भी पीटीसी द्वारा वहन किया जाएगा.’’

पीटीसी चैनल के साथ एसजीपीसी का समझौता आज हो रहा समाप्त

सिख धर्मस्थल से गुरबानी का प्रसारण करने वाले पीटीसी चैनल के साथ एसजीपीसी का समझौता रविवार को समाप्त हो रहा है. पीटीसी एक निजी चैनल है जिसका संबंध अक्सर बादल परिवार से बताया जाता है. शुक्रवार को एसजीपीसी ने जीनेक्स्ट मीडिया (पीटीसी चैनल) के प्रबंधन से सिख संस्था का उपग्रह चैनल शुरू होने तक श्री हरमंदिर साहिब (स्वर्ण मंदिर) से गुरबानी का प्रसारण जारी रखने की अपील की थी. धामी ने ‘संगत’ (समुदाय) से अपील की कि उन्हें श्री हरमंदिर साहिब से प्रसारित गुरबानी से निर्बाध जुड़ने के लिए ‘एसजीपीसी श्री अमृतसर’ यूट्यूब और फेसबुक चैनलों को फॉलो करना शुरू देना चाहिए.

भगवंत मान सरकार पर प्रहार करते हुए धामी ने किया दावा

भगवंत मान सरकार पर प्रहार करते हुए धामी ने दावा किया कि एसजीपीसी के एक विश्वासपात्र से पंजाब सरकार ने एसजीपीसी को बदनाम करने के लिए एक चैनल शुरू करने के वास्ते संपर्क किया था, लेकिन उन्होंने प्रस्ताव को खारिज कर दिया और उन्हें इस बारे में सूचित किया.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.