सीएम अरविंद केजरीवाल ने एम्स पहुंच कर पीड़ित बच्ची का जाना हाल, कहा- दोषियों को मिलेगी सख्त सजा

0 104

नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। चार अगस्त को पश्चिम विहार कॉलोनी में 13 साल की बच्ची से दुष्कर्म और हत्या के प्रयास के बाद घायल बच्ची से मिलने के लिए सीएम केजरीवाल एम्स पहुंचे। यहां उन्होंने बच्ची का हाल चाल लेकर मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि दोषियों को सख्त-से-सख्त सजा मिलेगी। इससे पहले दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर जानकारी है कि वह एम्स जा रहे हैं। वह एम्स में उस 13 साल की बच्ची से मिलने जा रहे हैं, जिसके साथ बीते दिनों हैवानियत हुई थी।

यह था सीएम का ट्वीट

सीएम ने अपने ट्वीट में कहा कि ”एक 13 साल की बच्ची के साथ हैवानियत भरी वारदात की जानकारी ने आत्मा को अंदर तक झकझोर दिया है। ऐसे दरिंदे अपराधियों का खुला घूमना बर्दाश्त के बाहर है। पीड़ित बच्ची का हाल जानने के लिए मैं थोड़ी देर में एम्स (AIIMS) जा रहा हूंं।”

बता दें कि पश्चिम विहार वेस्ट थाना क्षेत्र में 12 वर्षीय बच्ची से दुष्कर्म का आरोपित पुलिस की पकड़ से अभी भी बाहर है। इस मामले में पुलिस ने पॉक्सो व हत्या के प्रयास से जुड़ी धारा के तहत मामला दर्ज कर छानबीन शुरू की है। फिलहाल संजय गांधी अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए बच्ची को एम्स में दाखिल कराया गया है। पुलिस के अनुसार, बच्ची की हालत अभी नाजुक बनी हुई है।

 

अभी तक की छानबीन में पुलिस को पता चला है कि घटना के समय बच्ची अपने घर में अकेली थी। बच्ची के माता-पिता मजदूरी करते हैं। बड़ी बहन घर में ही सिलाई मशीन से कपड़े सिलने का काम करती हैं। मंगलवार शाम करीब साढ़े छह बजे पहले से ही ताक में बैठे आरोपित ने जब पाया कि बच्ची अपने घर में अकेली है तो मौका मिलते ही वह बच्ची के पास गया और गलत हरकत करना शुरू कर दिया।

विरोध करने पर किया हमला

बच्ची ने जब आरोपित का विरोध किया तो उसने बच्ची के उपर हमला कर दिया। आरोपित ने कमरे में पड़ी कैंची उठाई और बच्ची के शरीर पर पांच वार कर दिए। सिर, पेट व पीठ पर वार किए गए हैं। इतने वार के बावजूद बच्ची ने हिम्मत दिखाई और खून से लथपथ अवस्था में घर से बाहर की ओर भागी।

अरोपित फरार

इस बीच आरोपित मौके से फरार हो गया। बच्ची जब बाहर भागी तो वहां मौजूद कुछ लोग की नजर बच्ची पर पड़ी और उन्होंने मामले से पुलिस को अवगत कराया। मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल बच्ची को संजय गांधी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से बच्ची को एम्स रेफर कर दिया गया। उधर मामले की जानकारी मिलते ही जिला पुलिस उपायुक्त डॉ ए कौन स्वयं अस्पताल पहुंचे और घायल बच्ची व उनके स्वजन से मिले। पुलिस का कहना है कि आरोपित की तलाश के लिए आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज खंगाल रही है।