साहित्य अकादमी का बाल साहित्य पुरस्कार सूर्यनाथ सिंह को, यहां देखें पूरी सूची

34

साहित्य अकादमी ने 2023 के बाल साहित्य पुरस्कारों और युवा पुरस्कारों की घोषणा कर दी. हिंदी में बाल साहित्य पुरस्कार के लिए सूर्यनाथ सिंह की पुस्तक ‘कौतुक ऐप’ का चयन किया गया है. वहीं, हिंदी के लिए युवा पुरस्कार अतुल कुमार राय के उपन्यास ‘चांदपुर की चंदा’ को चुना गया है. अकादमी ने एक बयान में कहा कि साहित्य अकादमी के अध्यक्ष माधव कौशिक की अध्यक्षता में अकादमी के कार्यकारी मंडल की बैठक में गुरुवार को सूची जारी की गयी, जिसमें 22 बाल साहित्यकार और 20 युवा साहित्यकार पुरस्कार शामिल हैं.

साहित्य अकादमी ने कहा कि वह मणिपुरी, मैथिली और संस्कृत के लिए युवा पुरस्कार और मणिपुरी के लिए बाल साहित्य पुरस्कारों की घोषणा बाद में करेगी. जबकि उड़िया के लिए युवा पुरस्कार और कश्मीरी भाषा के लिए बाल साहित्य पुरस्कार प्रदान नहीं किया गया है. पुरस्कार की घोषणा के बाद सूर्यनाथ सिंह ने कहा, कौतुक ऐप’ किताब किशोरों का मजोरंजन करने के साथ-साथ उनमें तकनीकी और वैज्ञानिक बुद्धिमत्ता को विकसित करती है.

अंग्रेजी में बाल साहित्य के लिए सुधा मूर्ति की पुस्तक ‘ग्रैंडपैरेंट्स बैग ऑफ स्टोरीज’, पंजाबी के लिए गुरमीत कड़िआलवी की पुस्तक ‘सची दी कहानी’ और उर्दू के लिए स्व. मतीन अचालपुरी की पुस्तक ‘ममता की डोर’ को चुना गया है. बाल साहित्य पुरस्कार के अन्य विजेता हैं- रोथिन्द्रनाथ गोस्वामी (असमिया), श्यामलकांति दास (बंगाली), प्रतिमा नंदी नारज़ारी (बोडो), बलवान सिंह जमोरिया (डोगरी), रक्षाबहन प्रह्लादराव दवे (गुजराती), विजयश्री हालादी (कन्नड़), तुकाराम राम शेट (कोंकणी), अक्षय आनंद ‘सनी’ (मैथिली), प्रिया एएस (मलयालम), एकनाथ अव्हाड (मराठी). मधुसूदन बिष्ट (नेपाली), जुगल किशोर सारंगी (उड़िया), किरण बादल (राजस्थानी), राधावल्लभ त्रिपाठी (संस्कृत), मानसिंग माझी (संथाली), ढोलन राही (सिंधी), उदयशंकर (तमिल) और डीके चादुवुला बाबू (तेलुगु) बाल साहित्य पुरस्कार के शेष दस विजेता हैं.

युवा पुरस्कार के 18 अन्य विजेता हैं – जिंटू गीतार्थ (असमिया), हमीरुद्दीन मिद्या (बंगाली), मैनाओश्री दैमारी (बोडो), सागर शाह (गुजराती), मंजुनायक चल्लूर (कन्नड़), निघत नसरीन (कश्मीरी), तन्वी कामत बम्बोलकर (कोंकणी), गणेश पुथु (मलयालम), विशाखा विश्वनाथ (मराठी), नैना अधिकारी (नेपाली), संदीप (पंजाबी), देवीलाल महिया (राजस्थानी), बापी टुडू (संथाली), मोनिका जे पंजवानी (सिंधी), राम थंगम (तमिल), जॉनी तक्केदासिला (तेलुगु), धीरज बिस्मिल (डोगरी) और तौसीफ बरेलवी (उर्दू). दोनों पुरस्कारों के विजेताओं को बाद में आयोजित एक समारोह में एक उत्कीर्ण ताम्रफलक और प्रत्येक को 50,000 रुपए की सम्मान राशि प्रदान की जाएगी.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.