Chhattisgarh Bandh : छत्तीसगढ़ बंद का दिख रहा है असर, सड़क पर उतरे हिंदू संगठन के लोग, बस में तोड़फोड़

12

Chhattisgarh Bandh Updates : छत्तीसगढ़ में बेमेतरा हिंसा को लेकर विहिप और अन्य हिंदू संगठनों द्वारा बुलाये गये बंद के मद्देनजर रायपुर में भाजपा और विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने आज लोगों से अपने व्यवसाय बंद करने का आग्रह किया है. बेमेतरा में दो समुदायों के बीच हुई झड़प को लेकर विश्व हिन्दू परिषद व अन्य संगठनों ने आज राज्य में ‘बंद’ का आह्वान किया है. इस दौरान रायपुर में दुकानें बंद देखी गयी. सड़कों पर पुलिस की तैनाती भी की गयी है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार 23 साल के लड़के की मौत के बाद रायपुर में बस में तोड़फोड़ की गयी है.

आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ में बेमेतरा जिले के बीरनपुर गांव में सांप्रदायिक झड़प में एक व्यक्ति की मौत होने तथा तीन पुलिसकर्मियों के घायल होने के एक दिन बाद रविवार को स्थिति तनावपूर्ण रही और किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए भारी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है. विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने सोमवार को यानी आज राज्यव्यापी बंद का आह्वान किया है जबकि विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और मृतक के परिजनों ने इस घटना के लिए पुलिस को जिम्मेदार ठहराया.

चक्का जाम होने की ख़बर

इधर अभिषेक महेश्वरी (ASP रायपुर) ने कहा है कि VHP के द्वारा आज बंद का आह्वान किया गया है, पुलिस बल हर क्षेत्र में तैनात है. अभी तक किसी तरह की घटना की खबर नहीं है. चक्का जाम होने की ख़बर है जिसके लिए हमने रूट डायवर्जन और उसे नियंत्रित करने की व्यवस्था की है.

सभी सड़कों पर पुलिस ने अवरोधक लगाये

बताया जा रहा है कि गांव जाने वाली सभी सड़कों पर पुलिस ने अवरोधक लगाये हैं तथा जिला और पुलिस प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी शनिवार से गांव में डेरा डाले हुए हैं. इस बीच, मारे गये व्यक्ति का रविवार को उसके परिवार के सदस्यों तथा ग्रामीणों ने कड़ी सुरक्षा के बीच अंतिम संस्कार कर दिया. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है.

गांव में कानून-व्यवस्था की स्थिति अब भी सामान्य नहीं

गौर हो कि बेमेतरा से करीब 60 किलोमीटर दूर स्थित बीरनपुर में शनिवार को स्कूली बच्चों के बीच झड़प हो गयी थी जिसके बाद हिंसा भड़क उठी. हिंसा में ग्रामीण भुवनेश्वर साहू (23) की मौत हो गयी और तीन पुलिसकर्मी घायल हो गये जिसके बाद स्थानीय प्रशासन को दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 लागू करनी पड़ी. बेमेतरा के जिलाधिकारी पी एस अल्मा ने कहा कि मृतक व्यक्ति के परिजन, ग्रामीणों और प्रशासन के अधिकारियों के सहयोग से उसका अंतिम संस्कार किया गया. गांव में कानून-व्यवस्था की स्थिति अब भी सामान्य नहीं है.

उन्होंने कहा कि प्रशासन और पुलिस के अधिकारी स्थिति की समीक्षा करेंगे जिसके बाद गांव तथा आसपास के इलाकों में शांति बनाए रखने के लिए भविष्य की योजनाएं बनायी जाएंगी.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.