Budget 2024: 1 करोड़ करदाताओं को बड़ी राहत, Tax की पुरानी देनदारी वित्त मंत्री ने की माफ

2

सीए अनिल मुकीम ने अंतरिम बजट पर अपनी राय रखते हुए कहा कि बजट प्रस्ताव देश का चतुर्मुखी वार्षिक विकास का एक महत्वपूर्ण स्तंभ की राह में वित्तमंत्री द्वारा आजतक के अधिकतम पूंजी निवेश कि राशि का प्रस्ताव रखकर यह बताने का प्रयास किया की राजस्व व्यय को कम कर एवं कर (आय) के दायरे को बढ़ाकर पूंजी निवेश द्वारा देश के जीडीपी को नई राह दिखाना है चुकी चुनाव में इंटरिम बजट होने के कारण वित्तमंत्री को किसी भी प्रकार के कर प्रणाली में संशोधन या लुभावन का प्रस्ताव रखने में बाध्यता हैं. प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष कर के सभी दरो एवं कानून को सामान रखते हुए केवल स्टार्टअप करदाताओं को देने वाली छूट की अंतिम तिथि 31.3.2024 को बढ़ाकर 31.3.2025 किया गया, देश के छोटे करदाताओ से बकाया कर जो वित्त वर्ष 1962 से वित्त वर्ष 2014 तक लम्बित है. उसे माफ कर देने का प्रस्ताव है इससे छोटे व्यापारी को आगे प्राप्त होने वाली आयकर की वापसी में लाभ प्राप्त होगा. आज के इस प्रस्ताव से विदित होता है की जुलाई में आने वाले संपूर्ण बजट से देश के हर क्षेत्र के व्यक्तियों को लाभ मिलेगा. जय जवान, जय किसान, जय विज्ञान, एवं जय अनुसंधान की सोच भारत को विश्व में प्रथम स्थान दिलाने में लाभकारी होगा.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.