Bois Locker Room Case: बॉयज लॉकर रूम ग्रुप को लेकर एक छात्र ने किया सनसनीखेज खुलासा.

0 187

नई दिल्ली, ब्वॉयज लॉकर रूम ग्रुप के एक छात्र ने ही इस खेल का पर्दाफाश किया है। दरअसल, उसकी गर्लफ्रेंड (महिला मित्र) की अश्लील फोटो ग्रुप में अपलोड की गई थी, जिसे देख वह भड़क गया और उसने गर्लफ्रेंड को जानकारी देने के साथ ही स्क्रीन शॉट लीक कर दिया। इधर ग्रुप के कुछ छात्रों ने पूछताछ में कहा है कि उन्हें ग्रुप की करतूतों की जानकारी नहीं थी।

सूत्रों के मुताबिक दिल्ली पुलिस ग्रुप के सभी 27 छात्रों से पूछताछ कर चुकी है। इसमें पता चला है कि यह ग्रुप अप्रैल में बनाया गया था। एडमिन ने पुलिस को दिए बयान में कहा है कि ग्रुप में शामिल सभी छात्रों को वह नहीं जानता है। कुछ दोस्तों के कहने पर उसने उन्हें भी ग्रुप में जोड़ लिया था। कई छात्रों ने पुलिस को सफाई दी है कि उन्हें उक्त ग्रुप के उद्देश्य के बारे में जानकारी नहीं थी। ग्रुप में शामिल होने पर उन्होंने देखा कि कई छात्र अश्लील बातें कर रहे थे। वह लड़कियों की अश्लील फोटो डाल रहे थे। उन्होंने ग्रुप में कोई अश्लील चैटिंग नहीं की थी।

सूत्रों के मुताबिक एडमिन ने दोस्त के कहने पर एक छात्र को ग्रुप में जोड़ लिया था। ग्रुप से जुड़ते ही उस छात्र की नजर महिला मित्र पर पड़ी तो वह हैरान रह गया। उसने स्क्रीन शॉट लेकर तुरंत महिला मित्र को भेज दिया और फोन कर उसे ब्वॉयज लॉकर रूम ग्रुप के बारे में सारी बातें बता दीं। उसने अपने अन्य दोस्तों से मशविरा करने के बाद स्क्रीन शॉट को वायरल कर दिया।

वहीं, साइबर सेल के डीसीपी अन्येष राय का कहना है कि जैसे ही छात्रों को मुकदमा दर्ज होने की जानकारी मिली। एडमिन ने ग्रुप डिलीट कर दिया। वहीं छात्रों ने चैटिंग डिलीट कर सुबूत मिटा दिए। ऐसे में छात्रों के दावों की पड़ताल के लिए छात्रों के मोबाइल जांच के लिए भेजे गए हैं। जांच में जिनके खिलाफ सुबूत मिलेंगे, उन्हें आरोपित बनाया जाएगा। इसके साथ ही छात्रों के बयान की सत्यता की जांच के लिए साइबर सेल ने इंस्टाग्राम से ग्रुप के बारे में जल्द विस्तृत जानकारी मुहैया कराने का अनुरोध किया है। माना जा रहा है कि इंस्टाग्राम से रिपोर्ट आने के बाद सच्चाई का पता लग सकेगा।