बीजेपी करेगी केजरीवाल की पार्टी ‘आप’ को सत्ता से बाहर, दिल्ली में पार्टी बना रही है खास प्लान

10

दिल्ली में साल 2025 में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. इससे पहले बीजेपी सत्तारूढ़ दल को बाहर का रास्ता दिखाने का प्लान तैयार कर रही है. बीजेपी ने हाल में बनाये गये जीएनसीटीडी अधिनियम को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के तीखे हमले पर शुक्रवार को कड़ी प्रतिक्रिया दी. पार्टी की ओर से कहा गया कि उनकी सरकार के ‘‘भ्रष्टाचार, निष्क्रियता और भाई-भतीजावाद’ ही 2025 में सत्ता से उसकी विदाई का मार्ग प्रशस्त करेंगे. सीएम केजरीवाल ने इससे पहले दिल्ली विधानसभा में दावा किया था कि भाजपा शहर की सातों लोकसभा सीट हार जायेगी.

प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने केजरीवाल को दिल्ली में उनकी सरकार और मोदी सरकार द्वारा किये गये विकास कार्यों की तुलना पर बहस के लिए विधानसभा का एक सत्र बुलाने की चुनौती दी. सचदेवा ने कहा कि 2020 के चुनाव के बाद से दिल्ली के लोग सांप्रदायिकता, निष्क्रियता, भ्रष्टाचार एवं भाई-भतीजावाद के जरिए केजरीवाल का असली चेहरा देख चुके हैं और वे 2025 में उन्हें सत्ता से बाहर का रास्ता दिखा देंगे. उन्होंने यह भी कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक केजरीवाल ‘पीड़ित होने का कार्ड खेलने और मुद्दों को भटकाने में चतुर हैं.

भ्रष्टाचार एवं भाई-भतीजावाद का मुद्दा

प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने कहा कि केजरीवाल को राजनीतिक फायदे के लिए पीड़ित होने का स्वांग रचने में महारत हासिल है. दिल्ली के लोगों ने एक बार फिर देख लिया है कि जब भी उनकी सरकार में भ्रष्टाचार एवं भाई-भतीजावाद का मुद्दा चर्चा का विषय बन जाता है तो वह लोगों का ध्यान भटकाने के लिए अपनी सरकार की शक्ति और अधिकारों का मुद्दा उठाने का प्रयास करते हैं. बीजेपी नेता ने दिल्ली में मुख्यमंत्री के नवनिर्मित सरकारी आवास को ‘शीशमहल’ बताया और आरोप लगाया कि सरकारी पैसे से इसे नया रूप दिया गया.

क्या कहा केजरीवाल ने

इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को बीजेपी नीत केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि सेवा मामले पर अध्यादेश इसलिए लाया गया था क्योंकि धनबल और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) तथा केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) का डर कारगर नहीं रहा. विधानसभा में उन्होंने यह भी दावा किया कि बीजेपी सेवा विधेयक के माध्यम से लोकतंत्र का ‘‘संघी’’ मॉडल लेकर आई है. उन्होंने कहा कि 2024 का लोकसभा चुनाव राष्ट्रीय राजधानी के लिए पूर्ण राज्य के मुद्दे पर लड़ा जाएगा. केजरीवाल ने आरोप लगाया कि ‘‘अध्यादेश और विधेयक के माध्यम से दिल्ली के लोगों के लोकतांत्रिक अधिकारों को कुचल दिया गया.

बीजेपी दिल्ली की सभी सात लोकसभा सीट हार जाएगी

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था की कई शैलियां हैं जैसे वेस्टमिंस्टर शैली और संसदीय शैली. ये लोग (बीजेपी) इस विधेयक के माध्यम से लोकतंत्र की संघी शैली लेकर आए हैं. उन्होंने कहा कि सेवा मामले पर अध्यादेश इसलिए लाया गया क्योंकि धनबल और ईडी तथा सीबीआई का डर दिल्ली में कारगर नहीं रहा. केजरीवाल ने यह भी दावा किया कि हाल में भाजपा के किसी नेता ने उन्हें धमकी देते हुए कहा था, ‘‘हम तुम्हें झुका देंगे.’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि लेकिन मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि कोई भी ताकत केजरीवाल और दिल्ली के दो करोड़ लोगों को झुका नहीं सकती. आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक ने कहा कि 2024 के चुनाव में बीजेपी दिल्ली की सभी सात लोकसभा सीट हार जाएगी.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.