राजस्थान में भाजपा सांसदों की प्रतिष्ठा दांव पर, साख बचाने की चुनौती बड़ी

4

जयपुर: राजस्थान विधानसभा चुनाव में भाजपा सांसदों की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है. इसका कारण यह है कि इस बार के चुनाव में कांग्रेस को पटखनी देकर सत्ता के गलियारे में धमकने के लिए भाजपा ने राजस्थान में अपने सांसदों को उनके ही निर्वाचन क्षेत्र में ताकत दिखाने के लिए उतार दिया है. इसके चलते फिलहाल उनके सामने अपनी-अपनी साख बचाने की चुनौती बड़ी है.

जयपुर में भैरों सिंह शेखावत के दामाद को मैदान में उतारा

एक रिपोर्ट के अनुसार, भाजपा ने इस चुनाव में 4 सांसदों को उतारा हुआ है. इसमें उसने जयपुर के पूर्व राजघराने की सदस्य सांसद दीया कुमारी को जयपुर के विद्याधर नगर सीट से टिकट देकर कद्दावर नेता रहे भैरों सिंह शेखावत के दामाद विधायक नरपत सिंह राजवी को उनकी पुरानी सीट चित्तौड़गढ़ शिफ्ट कर दिया. दीया के सामने कांग्रेस ने पिछले चुनाव में हार चुके सीताराम अग्रवाल को उतारा है. स्थानीय प्रभाव होने के कारण सीताराम कमजोर नहीं माने जा रहे, लेकिन राजपूत वोट बैंक होने के कारण दीया स्थिति मजबूत बनी हुई है.

झोटवाड़ा सीट पर राज्यवर्धन सिंह राठौड़

इसके अलावा, भाजपा ने पूर्व केंद्रीय मंत्री और पार्टी के सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौड़ को झोटवाड़ा सीट से मौका देने के लिए राजे समर्थक पूर्व मंत्री राजपाल सिंह शेखावत का टिकट काट दिया. राजपाल ने बगावत की और निर्दलीय पर्चा भर दिया, लेकिन पार्टी उन्हें मनाने में कामयाब हो गई. कांग्रेस ने युवा नेता अभिषेक चौधरी को उतारा है, लेकिन समीकरण अब इनका साथ नहीं दे रहे.

अलवर से बाबा बालकनाथ को टिकट

सांसद बाबा बालकनाथ को भाजपा ने अलवर की तिजारा सीट से टिकट दिया है. उनके सामने कांग्रेस के इमरान खान मुकाबले में खड़े हैं. खान का नाम पहले इस सीट से बसपा की सूची में था, लेकिन कांग्रेस ने उन्हें पार्टी में शामिल कर टिकट दे दिया. बसपा के टिकट पर लोकसभा चुनाव हारे थे. दोनों के बीच टक्कर रोचक है.

सवाईमाधोपुर से किरोड़ी लाल मीणा

राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीणा को भाजपा ने सवाईमाधोपुर सीट से उतारा है, ये सीट भाजपा के प्रभाव वाली सीट मानी जाती है. यहां पिछली बार कांग्रेस जीती थी. उनके सामने विधायक दानिश अबरार ताल ठोक रहे हैं. गहलोत सरकार के खिलाफ लगातार आंदोलन चलाने वाले किरोड़ी लाल मीणा को उसका लाभ मिल रहा है.

नरेंद्र खींचड़ को मंडावा से उतारा

सांसद नरेंद्र खींचड़ को भाजपा ने झुंझुनूं की मंडावा सीट से उतारा है. यहां लम्बे समय से राजनीति करते रहने का उन्हें लाभ मिल रहा है. उनके सामने कांग्रेस की विधायक रीटा चौधरी हैं, जिन्हें उन्होंने वर्ष 2018 के चुनाव में हर का मजा चखाया था, लेकिन वे उपचुनाव में जीत गई थीं. इस बार भी दोनों के बीच कड़ी टक्कर है. इस पर सीट पर जाट वोटरों की बहुलता है. इसके अलावा अलावा अन्य जातियों के वोटर भी इस बार जीत का फैसला करेंगे.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.