Bigg Boss फेम अर्चना गौतम पर फर्जी मुकदमे की धमकी देकर वसूली का आरोप, कांग्रेस नेताओं ने पुलिस को सौंपे सबूत

40

Archana Gautam News: बिग बॉस फेम अर्चना गौतम एक बार सुर्खियों में हैं. कांग्रेस के नई दिल्ली स्थित मुख्यालय में उनके साथ बदसलूकी का वीडियो जहां वायरल हो रहा है, वहीं मेरठ में पार्टी नेताओं ने उनके खिलाफ पुलिस से शिकायत की है. इसमें कहा गया है कि अर्चना गौतम को कांग्रेस से चार महीने पहले ही निष्कासित किया जा चुका है. इसके बावजूद वह और उनके पिता पार्टी को बदनाम कर रहे हैं. कांग्रेस नेताओं ने कहा कि अर्चना गौतम और उनके पिता झूठे आरोप लगा रहे हैं. इसलिए अब वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से इसकी शिकायत करते हुए सबूत सौंपे गए हैं.

सस्ती लोक​प्रियता के लिए कांग्रेस नेताओं को बदनाम करने का आरोप

कांग्रेस के मेरठ जिलाध्यक्ष अवनीश काजला और शहर अध्यक्ष जाहिद अंसारी ने कहा कि 2022 विधानसभा चुनाव में हस्तिनापुर विधानसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी रही अर्चना गौतम को पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के कारण 31 मई 2023 को निष्कासित किया जा चुका है. उन्होंने कहा कि अर्चना और उनके पिता सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को बदनाम करने का षड्यंत्र कर पार्टी को बदनाम कर रहे हैं. उन्होंने दोनों के खिलाफ कार्रवाई की मांग के लिए एसएसपी से शिकायत की.

फर्जी मुकदमे में फंसवाने की धमकी

अश्वनीश काजला ने कहा कि अर्चना गौतम को कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने पूरी मेहनत और ताकत से चुनाव लड़ाया था. लेकिन, वह चुनाव हार गईं. इसके बाद अर्चना ने मेरठ से दूरी बना ली. जिलाध्यक्ष ने कहा कि चुनाव में कई किराए की गाड़ी भी दी गईं, जिनका भुगतान भी अर्चना ने नहीं किया. गाड़ियों का किराया मांगने पर अर्चना ने फर्जी मुकदमे में फंसवाने की धमकी दी और कई महिलाओं के साथ अभद्रता की. उन्होंने बताया कि अनुशासनहीनता के कारण अनुशासन समिति ने अर्चना को पहले ही पार्टी से निकाल दिया था. समिति सदस्य एवं पूर्व विधायक श्याम किशोर शुक्ला ने अर्चना गौतम की कांग्रेस पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से छह साल के लिए निष्कासित करने का पत्र भी जारी किया था. इसके बाद से ही अर्चना और उनके पिता लगातार पार्टी को बदनाम कर सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए हमारे वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ षड्यंत्र कर रहे हैं. अब एक बार फिर पार्टी के नेताओं को फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी दी जा रही है. उन्होंने फर्जी मुकदमे दर्ज कराकर धन वसूली करने का भी आरोप लगाया. इसे लेकर एसएसपी को साक्ष्य भी सौंपे गए हैं.

अर्चना के पिता बोले- अभी तक नहीं मिला निलंबन पत्र

उधर अर्चना गौतम के पिता गौतमबुद्ध की ओर से कहा गया है कि बेटी के निलंबन का कोई पत्र अभी तक हमें नहीं दिया गया है. हम पर जो कांग्रेसी फर्जी मुकदमे कराने और अवैध वसूली का आरोप लगा रहे हैं, पुलिस से उम्मीद है कि इन आरोपों की जांच करके सख्त कार्रवाई करेगी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के बड़े नेता संदीप कुमार के इशारे पर सब चल रहा है. वह अपनी व परिवार की जान की रक्षा के लिए जल्द ही राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से गुहार लगाएंगे.

दिल्ली में कांग्रेस मुख्यालय के बाहर कार्यकर्ताओं ने की बदसलूकी

अर्चना गौतम हाल ही अपने एक वीडियो वायरल होने के कारण सुर्खियों में हैं. दरअसल हाल ही में वह नई दिल्ली में कांग्रेस मुख्यालय अपने पिता के साथ पहुंचीं, तो पार्टी दफ्तर के अंदर जाने की कोशिश कर ही थी. लेकिन, बाहर खड़े कुछ लोगों उनका विरोध करना शुरू कर दिया. अर्चना गौतम और उनके पिता संसद में महिला बिल पास होने पर प्रियंका गांधी और राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे को बधाई देने आए थे. वहीं कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने गुस्से में ऐसा इसलिए किया क्योंकि, एक्ट्रेस के पिता ने प्रियंका गांधी के पीए संदीप सिंह के खिलाफ इसी साल मार्च में केस दर्ज करवाया था. उन्होंने आरोप लगाया था कि उनके पीए ने उनकी बेटी को जान से मारने की धमकी भी दी है. मेरठ पुलिस ने इस मामले में आईपीसी की धारा 504, 506 और एससी एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया था.

संदीप सिंह पर गंभीर आरोप लगा चुकी हैं अर्चना गौतम

अर्चना गौतम ने आरोप लगाया था कि संदीप सिंह महिलाओं की इज्जत नहीं करता. लोग पार्टी में उसकी ताकत के कारण शिकायत नहीं करते. उन्हें लगता है कि कहीं वह उन्हें पार्टी से बाहर नहीं निकलवा दे. अर्चना ने कहा कि मैं पार्टी में रहूंगी और संदीप सिंह जैसों की छाती पर बैठकर मूंग दलने का काम करूंगी. अर्चना ने कांग्रेस छोड़ने से इनकार करते हुए कहा कि प्रियंका गांधी ने उनका बुरा वक्त में साथ दिया है. अभिनेत्री ने कहा कि संदीप सिंह का हर चिट्‌ठा उसका सुबूत उनके पास है. संदीप सिंह ने जो घोटाले किए, जो झूठ बोला है उसका वह पर्दाफाश करेंगी. उन्होंने प्रियंका गांधी से संदीप सिंह की शिकायत करने का ट्राई किया, प्रियंका ने उन्हें घर बुलाया. लेकिन, संदीप सिंह ने प्रियंका गांधी से मिलने नहीं दिया.

अर्चना के पिता पिता गौतम बुद्ध ने तब आरोप लगाया कि प्रियंका गांधी वाड्रा के पीए संदीप सिंह के बुलावे पर 26 फरवरी 2023 को अर्चना कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय महाधिवेशन में भाग लेने के लिए छत्तीसगढ़ गई थी. जहां अर्चना ने प्रियंका गांधी से मिलने के लिए संदीप सिंह से समय मांगा था. लेकिन, उन्होंने प्रियंका से मिलवाने से इनकार कर दिया. गौतम बुद्ध ने आरोप लगाया कि संदीप सिंह ने उनकी बेटी से अभद्रता की. जातिसूचक व अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल किया. सभी के सामने अधिवेशन मंच पर जाने से रोका और जान से मारने और उठाने की धमकी दी. बाद में उनकी बेटी अपनी कोशिशों से किसी तरह प्रियंका गांधी से मिल पाई. संदीप सिंह ने उनकी बेटी को जेल में भेजने की धमकी दी. इससे बेटी की मानसिक स्थिति पर गहरा असर पड़ा है. पुलिस ने गौतम बुद्ध की तहरीर पर संदीप सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था.

विधानसभा चुनाव 2022 में मिली करारी शिकस्त

अर्चना गौतम यूपी विधानसभा चुनाव में मेरठ की हस्तिनापुर विधानसभा से कांग्रेस पार्टी से उम्मीदवार रह चुकी हैं. अर्चना ने साल 2022 के यूपी विधानसभा चुनाव में हस्तिनापुर निर्वाचन क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार दिनेश खटीक के खिलाफ चुनाव लड़ा था, जिसमें वह भारी अंतर से हार गई थीं.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.