गुरु तेग बहादुर जी के 400वें प्रकाश पर्व पर दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी का बड़ा फैसला

0 88

 

नई दिल्ली,  गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व की तरह गुरु तेग बहादुर जी का 400वां प्रकाश पर्व भी बड़े स्तर पर आयोजित किए जाएंगे। इस उपलक्ष्य में होने वाले कार्यक्रमों की रूपरेखा तय करने के लिए दिल्ली सिख गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी (डीएसजीपीसी) ने 101 सदस्यीय शताब्दी समिति गठित करने का फैसला किया है। वरिष्ठ अकाली नेता अवतार सिंह हित इसके प्रमुख होंगे। नगर कीर्तन सजाने सहित कई धार्मिक कार्यक्रम आयोजित होंगे।

कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने बताया कि समिति में दिल्ली के प्रमुख सिख सभाओं व विभिन्न धर्मों के प्रतिनिधि, सिख बुद्धिजीवी व सिख प्रचारकों को शामिल किया जाएगा। उनकी सलाह से कार्यक्रकम तय किए जाएंगे। संगत के सहयोग से इन कार्यक्रमों का आयोजन होगा। उन्होंने बताया कि प्रकाश पर्व के कार्यक्रम की शुरुआत छह नवंबर को गुरुद्वारा शीशगंज साहिब से होगी। उस दिन अखंड पाठ साहिब की शुरुआत होगी और आठ नवंबर को भोग डाले जाएंगे। उसी दिन प्रकाश पर्व पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों की सफलता के लिए अरदास होगी।

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सिख संगत का सहयोग लिया जाएगा- सिरसा

उन्होंने कहा कि गुरु साहिब की गुरबाणी व संदेश और उनकी शहादत की जानकारी घर-घर पहुंचाने का प्रयास होगा। इसके लिए सिंह सभाओं व विभिन्न धर्मों के प्रतिनिधियों के साथ ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सिख संगत का सहयोग लिया जाएगा। गुरु नानक देव जी के प्रकाश पर्व के मौके पर पंजाब से दिल्ली तक नगर कीर्तन सजाया गया था। इस बार भी नगर कीर्तन सजाने के साथ ही इंदिरा गांधी स्टेडियम बड़ा समारोह आयोजित किया जाएगा। उन्होनें कहा कि गुरु तेग बहादुर साहिब जी ने अद्वितीय शहादत दे कर भारत में मानवता की रक्षा की थी। उनकी शहादत की वजह से ही भारत का वर्तमान स्वरूप संभव हो सका है, इसलिए गुरु साहिब का 400वां प्रकाश पर्व सिख कौम ही नहीं बल्कि पूरी मानवता के लिए महत्व रखता है।