‘बौखला गए हैं वो’, विपक्षी एकता पर पीएम मोदी ने किया हमला

5

भोपाल : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को मध्य प्रदेश के भोपाल में आयोजित ‘मेरा बूथ सबसे मजबूत’ कार्यक्रम में भाजपा के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए 23 जून, 2023 को बिहार की राजधानी में विपक्ष की 17 पार्टियों की हुई बैठक पर हमला बोला है. उन्होंने विपक्षी एकता के मोर्चे पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वे बौखला गए हैं, क्योंकि भाजपा 2024 का चुनाव भी जीतने जा रही है. भाजपा की जीत से वे ज्यादा घबराए हुए हैं. इसीलिए उन्होंने बैठकें करना शुरू कर दिया है.

घोटालों की लंबी फेहरिस्त की तस्वीर

विपक्षी एकता पर कटाक्ष करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कुछ दिन पहले उनके (विपक्ष) के द्वारा एक फोटो सत्र आयोजित किया गया था. यदि आप तस्वीरें देखेंगे, तो आपको एहसास होगा हर व्यक्ति फोटों में घोटालों का अपना इतिहास है. हर फोटो भ्रष्टाचार और घोटालों की गारंटी है. सब मिलकर कम से कम 20 लाख करोड़ रुपये के भ्रष्टाचार की गारंटी हैं. अकेले कांग्रेस ने ही लाख करोड़ रुपये के घोटाले किए हैं. उन्होंने कहा कि राजद, टीएमसी, एनसीपी इन सभी के पास घोटालों की एक लंबी फेहरिस्त है.

2014 और 2019 से अधिक दिख रही बेचैनी

प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्ष पर कटाक्ष करते हुए आगे कहा कि भाजपा का कड़ा विरोध था. चाहे वह 2014 हो या 2019, दोनों चुनाव में उतनी बेचैनी नहीं थी, जितनी आज दिख रही है. आज एक-दूसरे के सामने झुकते हैं और एक समय था कि वे हर वक्त एक-दूसरे को गालियां देते रहते थे. उन्होंने कहा कि उनकी बेचैनी बताती है कि देश की जनता ने 2024 के चुनाव में भी भाजपा को वापस लाने का मन बना लिया है. उन्होंने कहा कि 2024 में एक बार फिर भाजपा की प्रचंड जीत सुनिश्चित है. इसीलिए सभी विपक्षी दल घबराए हुए हैं.

हर घोटालेबाजों के खिलाफ हो कार्रवाई

उन्होंने आगे कहा कि विपक्ष के पास केवल एक ही गारंटी है घोटालों की और वह सुनिश्वित करेंगे कि हर घोटालेबाज के खिलाफ कार्रवाई हो. उन्होंने कहा कि इन पार्टियों के पास केवल घोटालों का अनुभव है और उनके पास केवल एक ही गारंटी है, जो घोटालों की है. उन्होंने कहा कि यह देश को तय करना है कि क्या वह इस गारंटी को स्वीकार करना चाहता है. उन्होंने कहा कि जहां मोदी की गारंटी है और वह है हर घोटालेबाजों पर कार्रवाई करना.

जेल में रहने का सबक लेने के लिए पटना गए विपक्षी नेता

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता लालू प्रसाद यादव का नाम लिये बिना प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि विपक्षी दलों के नेता अनुभवी लोगों से जेल में रहने का सबक लेने के लिए पटना गए थे. उन्होंने कहा कि आपने सुना है, जब कोई अपराधी जेल से अपने गांव लौटता है, तो लोग उत्सुकता से उसके पास जेल का अनुभव जानने के लिए आते हैं. विपक्षी दल के नेताओं को भी उसकी प्रकार के अनुभव की आवश्यकता होती है, क्योंकि वे जानते हैं कि वे जांच के दायरे में हैं और इसके लिए पटना से बेहतर क्या होगा.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.