राम मंदिर को लेकर विदेशों में भी उत्साह, प्राण प्रतिष्ठा के दिन मॉरीशस में हिंदुओं के लिए खास छुट्टी का ऐलान

15

अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाले राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा की तैयारी जोरों पर चल रही है. इस कार्यक्रम पर पूरी दुनिया की नजर बनी हुई है. दुनियाभर में फैले हिंदू इस दिन का इंतजार कर रहे हैं जब भगवान राम को मंदिर में प्रवेश करवाया जाएगा. इस अवसर पर वो जश्न मामने की तैयारी कर रहे हैं. इस बीच एक बड़ी खबर मॉरीशस से आ रही है. दरअसल, मॉरीशस की सरकार ने एक अहम घोषणा की है जिसके तहत वहां 22 जनवरी को हिंदू आस्था वाले अधिकारियों को 2 घंटे की स्पेशल छुट्टी देने का ऐलान किया गया है. इस दौरान वे रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर होने वाले स्थानीय कार्यक्रमों में शिरकत कर सकेंगे.

08011 pti01 08 2024 000186b
ayodhya ram mandir

मॉरीशस सरकार की ओर से इस बाबत एक बयान जारी किया गया है जिसमें कहा गया है कि कैबिनेट ने अयोध्या में होने वाले राम मंदिर के उद्घाटन के दिन हिंदू धर्म के अधिकारियों को दो घंटे की विशेष छुट्टी देने पर सहमति व्यक्त की है. लिहाजा हिंदू आस्था के सार्वजनिक अधिकारी 22 जनवरी को 2 घंटे की स्पेशल छुट्टी पर रहेंगे. मॉरीशस सरकार ने कहा कि भारत में राम मंदिर एक ऐतिहासिक घटना है क्योंकि यह अयोध्या में भगवान राम की वापसी का प्रतीक है.

ayodhya ram mandir

नरेंद्र मोदी 22 जनवरी को भव्य मंदिर के गर्भगृह में श्री राम लला की मूर्ति की स्थापना करेंगे

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 22 जनवरी को भव्य मंदिर के गर्भगृह में श्री राम लला की मूर्ति की स्थापना करते नजर आने वाले हैं. भव्य मंदिर के उद्घाटन के लिए कई नेताओं और गणमान्य लोगों को आमंत्रित किया गया है. मंदिर के अधिकारियों के अनुसार यह समारोह 16 जनवरी से शुरू होकर 7 दिनों तक जारी रहेगा. इस बीच बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने ‘राष्ट्र धर्म’ पत्रिका के आगामी विशेष संस्करण में प्रकाशित एक लेख में कहा है कि नियति ने तय किया था कि अयोध्या में भगवान राम का भव्य मंदिर बनाया जायेगा और उसने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुना.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.