अयोध्या राम मंदिर के मुख्य पुजारी ने लोकसभा चुनाव 2024 पर कर दी बड़ी भविष्यवाणी, प्राण प्रतिष्ठा को बताया शुभ

18

अयोध्या राम मंदिर के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर बड़ी भविष्यवाणी कर दी है. उन्होंने कहा, यह नया साल 2024 बहुत महत्वपूर्ण होगा क्योंकि राम लला अयोध्या में राम मंदिर के गर्भगृह में विराजमान होंगे तथा आम चुनाव होंगे और दोनों ‘शुभ’ होंगे.

राम राज्य आ रहा : मुख्य पुजारी

अयोध्या राम मंदिर के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने कहा, न सिर्फ शांति बल्कि, राम राज्य आ रहा है. राम लला गर्भ गृह में विराजमान होंगे. उन्होंने एक चौपाई को उद्धृत करते हुए कहा, राम राज बैठे त्रैलोका, हर्षित भय, गए सब सोका. दास ने कहा, दुख, पीड़ा, तनाव सब समाप्त हो जाएगा और हर कोई खुश होगा. राम राज्य शब्द का इस्तेमाल आदर्श शासन के लिए किया जाता है जहां हर कोई खुशहाल हो.

2024 में एक बार फिर नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बनेंगे : आचार्य सत्येन्द्र दास

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येन्द्र दास जी महाराज ने कहा, प्रधानमंत्री जो कर रहे हैं वह ‘सबका साथ, सबका विकास’ है. कांग्रेस सत्ता में आना चाहती है, लेकिन इन्हें कोई सत्ता नहीं मिलने वाली है. क्योंकि जनता सत्ता देती है और इन लोगों को जनता से कोई मतलब नहीं है. ये सिर्फ प्रधानमंत्री की आलोचना करने में लगे हैं. इससे कुछ काम नहीं चलने वाला है. यह तय है कि भाजपा सरकार बनाएगी 2024 में एक बार फिर नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बनेंगे.

राम लला को छप्पन भोग लगाया जाएगा

राम मंदिर के मुख्य पुजारी ने कहा, राम लला को छप्पन भोग लगाया जाएगा और प्रसाद चढ़ाया जाएगा. उन्होंने कहा कि परंपरा के अनुसार, दोपहर में ‘भोग आरती’ की जाती है. दास ने कहा कि होली, रामनवमी, बसंत पंचमी, नववर्ष और स्वतंत्रता व गणतंत्र दिवस जैसे विशेष अवसरों पर राम लला को ‘छप्पन भोग’ लगाया जाता है.

22 जनवरी को लाखों भक्तों को कराया जाएगा भोजन

22 जनवरी को राम मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा होगी. इस दौरान लाखों की संख्या में भक्तों को भोजन कराया जाएगा. इसको लेकर देशभर से लोग सहयोग के रूप में सब्जियां, चावल और अन्य खाद्य सामग्री अयोध्या भेज रहे हैं. एक रिपोर्ट के अनुसार करीब 300 टन भोजन सामग्री भेजा जा रहा है.

राम के ननिहाल से 100 टन बासमती चावल पहुंचा अयोध्या

भगवान राम के ननिहाल छत्तीसगढ़ से 100 टन बासमती चावल अयोध्या भेजा गया है. बताया जा रहा है कि राम मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा कार्यक्रम के लिए अयोध्या में करीब 36 जगहों पर भेजनालय चलाया जाएगा.

प्राण-प्रतिष्ठा 22 जनवरी को दोपहर 12 बजकर 20 मिनट पर होगी

राम मंदिर का निर्माण करा रही संस्था श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चम्पत राय ने सोमवार को बताया था कि प्राण-प्रतिष्ठा दोपहर 12 बजकर 20 मिनट पर होगी. उन्होंने कहा, प्राण-प्रतिष्ठा के बाद आरती करो, पास-पड़ोस के बाजारों में, मुहल्लों में भगवान का प्रसाद वितरण करो और सायंकाल सूर्यास्त के पश्चात दीपक जलाओ. ऐसा ही निवेदन आग्रह प्रधानमंत्री जी ने अयोध्या से सारे संसार का आह्वान करते हुए किया है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.