सेना ने क्यूरेटेड वीडियो को ट्वीट करने की कड़ी निंदा की.

0 116

नई दिल्ली,  भारतीय सेना ने दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी सरकार एक मंत्री द्वारा उस क्यूरेटेड वीडियो को ट्वीट किए जाने की कड़ी निंदा की है, जिसमें कथित तौर पर एक जवान सेना में जातिगत भेदभाव की बात कह रहा है। इस बाबत जवाब और सफाई दोनों देते हुए भारतीय सेना ने कहा है कि ऐसे वीडियो दुश्मनों के एजेंट छेड़छाड़ के साथ बनाते और प्रसारित करते हैं।

यह है पूरा मामला

दरअसल, दिल्ली सरकार के मंत्री व आम आदमी पार्टी विधायक राजेंद्र पाल गौतम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को टैग करते हुए एक क्यूरेटेड (छेड़छाड़ के साथ बनाया गया) वीडियो ट्वीट किया था और सेना में कथित जातिगत भेदभाव करने वालों पर सख्त कार्रवाई की मांग की थी।

सेना ने इस वीडियो का संज्ञान लेते हुए कहा कि यह वीडियो वर्ष 2017 में बनाया गया था और छेड़छाड़ के साथ इसे दोबारा दुश्मन के एजेंटों ने अपलोड किया है। इस बाबत सेना ने कहा, ‘बिना पुष्टि के इस प्रकार का वीडियो साझा किया जाना दुखद है। भारतीय सेना को गर्व है कि समाज की सभी जाति, धर्म व समुदाय के बहादुर उसका हिस्सा हैं।’ भारतीय सेना ने यह भी कहा कि उन्हें जाति, मजहब या धर्म के संदर्भ के बिना भारतीय समाज के सभी सैनिकों पर गर्व है।

भारतीय सेना द्वारा इस वीडियो पर आपत्ति जताए जाने के बाद AAP नेता राजेंद्र पाल गौतम ने वीडियो को यह कहते हुए हटा लिया। वहीं सेना वरिष्ठ अधिकारी ने राजेंद्र पाल गौतम को फोन कर बताया कि यह 2-3 साल पुरानी घटना है। इस सैनिक ने आपसी झगड़े के चलते गुस्से एक वीडियो रिकॉर्ड किया जिसे बाद में छेड़छाड़ कर दोबारा वायरल किया गया। वहीं, मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने सेना से बातचीत के बाद उस ट्वीट को डिलीट कर दिया।

गौरतलब है कि दिल्ली विधानसभा चुनाव-2020 में समाज कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम दोबारा सीमापुरी विधानसभा सीट से चुनाव जीतने में सफल रहे और उन्हें केजरीवाल सरकार में दोबारा मंत्री बनाया गया है।