Andhra Pradesh: भ्रष्टाचार के मामले में चंद्रबाबू नायडू को 14 दिन की न्यायिक हिरासत, जेल में गुजरेगी रात

8

तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू को कथित कौशल विकास घोटाले के सिलसिले में विजयवाड़ा एसीबी कोर्ट ने 23 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है.

रिमांड पर अदालती फैसला आने से पहले बढ़ायी गई थी सुरक्षा

करोड़ों रुपये के भ्रष्टाचार मामले में गिरफ्तार टीडीपी प्रमुख एन चंद्रबाबू नायडू की रिमांड पर अदालत का फैसला आने से पहले आंध्र प्रदेश पुलिस ने किसी भी प्रतिकूल स्थिति से निपटने के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए थे. विजयवाड़ा शहर में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था.

12 घंटे से अधिक समय के बाद एसीबी कोर्ट ने सुनाया फैसला

शनिवार तड़के गिरफ्तार किए गए नायडू को रविवार सुबह करीब छह बजे विजयवाड़ा में एसीबी अदालत में पेश किया गया. कई घंटे तक चली दलीलों के पश्चात, न्यायाधीश ने करीब 12 घंटे बीत जाने के बाद फैसला सुनाया.

तेदेपा प्रमुख की गिरफ्तारी के बाद उनके समर्थन में कई आवाजें उठीं

तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के प्रमुख और आंध्रप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू की करोड़ों रुपये के कथित घोटाला मामले में गिरफ्तारी के बीच कई लोगों ने उनके पक्ष में आवाज उठायी है तथा उनकी गिरफ्तारी को अवैध बताया है. उनके पक्ष में आवाज उठाने वालों में कुछ विदेशी भी हैं. वैश्विक प्रौद्योगिकी कंपनी जोहो के प्रमुख कार्यकारी श्रीधर वेंबू ने रविवार को नायडू की गिरफ्तारी पर आश्चर्य प्रकट किया. वेंबू ने ‘एक्स’पर पोस्ट किया, मैं यह खबर पढ़कर स्तब्ध रह गया कि नायडू जी को कल गिरफ्तार कर लिया गया. मैं उन्हें जानता हूं तथा उन्होंने जोहो समेत कई कंपनियों को आंध्रप्रदेश में लाने के लिए कठिन परिश्रम किया. मैं आशा करता हूं कि इंसाफ होगा.

नायडू के समर्थन में उपवास करने आये टीडीपी समर्थकों को पुलिस ने भगाया

प्रकाशम जिले के कानगिरि में नायडू की गिरफ्तारी के विरोध में आज एक दिन के उपवास पर बैठने आये टीडीपी समर्थकों को पुलिस ने वहां से भगा दिया. पार्टी की ओर से बताया गया कि तिरूपति के श्रीकलाहस्ती और पूर्व गोदावरी जिले के कोव्वुरू में पुलिस ने इस तरह के प्रदर्शनों को नाकाम कर दिया.

लंदन में भी विरोध प्रदर्शन

टीडीपी ने लंदन में ब्रिटिश संसद के सामने महात्मा गांधी की प्रतिमा के पास अपने विदेशी समर्थकों द्वारा विरोध प्रदर्शन किये जाने के कुछ वीडियो साझा किये. इस बीच, वाईएसआरसीपी के नेता और राज्यसभा सदस्य वी विजयसाई रेड्डी ने सवाल किया कि नायडू को कथित घोटालों में उनकी भूमिका को लेकर गिरफ्तार क्यों नहीं किया जाना चाहिए. उन्होंने आरोप लगाया कि तेदेपा प्रमुख कई अनियमितताओं के लिए जिम्मेदार हैं जिनमें एपी-सीआरडीए घोटाला, एपी-फाइबरनेट घोटाला, एपी स्किल डेवलपमेंट घोटाला, अमरावती जमीन घोटाला, ईएसआई चिकित्सा खरीद घोटाला और 2016 में वोट के बदले नकद घोटाला आदि शामिल हैं.

कौशल विकास निगम घोटाला मामले में नायडू ‘ए37’ के रूप में नामजद

कथित कौशल विकास निगम घोटाला मामले में गिरफ्तार तेलुगु देशम पार्टी (तेदेपा) के प्रमुख एन चंद्रबाबू नायडू को अपराध जांच विभाग (सीआईडी) ने आरोपी 37 (ए 37) के रूप में नामजद किया है. आंध्र प्रदेश पुलिस ने कथित कौशल विकास निगम घोटाले में नायडू को ‘मुख्य षड्यंत्रकारी’ बताया था. ऐसा आरोप है कि इस कथित घोटाले से राज्य सरकार को 300 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.