कतर जा रहे थे खालिस्तान समर्थक अमृतपाल सिंह के पिता, अमृतसर एयरपोर्ट पर रोका गया

2

खालिस्तान समर्थक अमृतपाल सिंह के पिता तरसेम सिंह को लेकर एक खबर आ रही है. जानकारी के अनुसार तरसेम सिंह बुधवार को अमृतसर के श्री गुरु राम दास जी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से कतर के लिए उड़ान भरने जा रहे थे. इस दौरान उन्हें अधिकारियों ने रोक लिया और विदेश की यात्रा की अनुमति नहीं दी. इस खबर को अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया ने प्रकाशित की है. खबर में परिवार के सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि परिवहन व्यवसाय से जुड़े कुछ लोगों से मिलने के लिए वह कतर जा रहे थे. तरसेम ने विदेश यात्रा से पहले पुलिस को सूचित कर दिया था.

कहां रोका गया अमृतपाल सिंह के पिता तरसेम सिंह को

बताया जा रहा है कि खुफिया एजेंसियों के अधिकारियों ने खालिस्तान समर्थक नेता अमृतपाल सिंह के पिता तरसेम सिंह को बुधवार को अमृतसर के श्री गुरु राम दास जी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर एक अंतरराष्ट्रीय उड़ान में चढ़ने से रोका. तरसेम से इसकी पुष्टि नहीं हो सकी है, क्योंकि उनसे संपर्क स्थापित करने में सफलता नहीं मिली. वहीं, अमृतसर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) सतिंदर सिंह ने टाइम्स ऑफ इंडिया से मामले को लेकर बात की और कहा कि पुलिस ने तरसेम को विमान में चढ़ने से नहीं रोका.

अमृतपाल की पत्नी को भी रोका गया

आपको बता दें कि डिब्रूगढ़ केंद्रीय जेल में अमृतपाल सिंह बंद है जो उच्च सुरक्षा वाली जेल हैं. अमृतपाल का परिवार गिरफ्तारी के बाद से विभिन्न खुफिया एजेंसियों के रडार पर है. पिछले दिनों अमृतपाल की पत्नी किरणदीप कौर को भी यूके जाने से रोक दिया गया था. अमृतपाल सिंह के फरार होने के बाद और गिरफ्तारी से पहले उनकी पत्नी किरणदीप कौर को भी ब्रिटेन जाने से रोका गया था.

कौन हैं अमृतपाल सिंह?

उल्लेखनीय है कि अमृतपाल सिंह की उम्र 30 वर्ष है. वह वारिस पंजाब दे के प्रमुख के रूप में भी जाना जाता है. बीते कुछ समय से उसे पंजाब में जरनैल सिंह भिंडरा वाले- 2.0 तक के नाम से जाना जा रहा है. यदि आप नहीं जानते तो बता दें भिंडरावाले ने 1980 के दौरान सिखों के लिए अलग देश खालिस्तान की मांग की थी. मांग करते हुए उन्होंने पूरे पंजाब में तहलका मचा दिया था. भिंडरवाले की ही तरह अमृतपाल सिंह भी जनता को उकसाने के लिए बयान देकर माहौल को गर्म कर देता है. बता दें भिंडरावाले की ही तरह ही अमृतपाल सिंह अपने सर पर एक भारी पगड़ी बांधता है.

जेल में बंद है खालिस्तानी समर्थक अमृतपाल सिंह

काफी लंबे समय से फरार चल रहे वारिस पंजाब दे के प्रमुख और खालिस्तानी समर्थक अमृतपाल सिंह को आखिरकार मोगा पुलिस ने अप्रैल के महीने में हिरासत में ले लिया था. अमृतपाल करीब एक महीने से फरार चल रहा था. अमृतपाल सिंह की तलाश में पुलिस ने पूरे शहर की खाक छान ली थी. पुलिस ने उसे खोज निकालने के लिए कई तरह के तरकीब अपनाये थे. हालांकि, पुलिस की इतनी कोशिशों के बावजूद वो लगातार बचता रहा था. लेकिन, आख़िरकार उसने मोगा पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया और अब वह जेल में बंद है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.