आजादी के अमृत महोत्सव के रूप में मेरा गांव मेरी धरोहर का शुभारंभ करेंगे अमित शाह

20

ब्यूरो, नयी दिल्ली : केंद्रीय गृह और सहकारिता मंत्री अमित शाह गुरुवार को आजादी का अमृत महोत्सव के हिस्से के रूप में एक अनूठी पहल ‘मेरा गांव मेरी धरोहर’ का शुभारंभ करेंगे. यह राष्ट्रीय सांस्कृतिक मानचित्रण मिशन के अंतर्गत संस्कृति मंत्रालय की एक अखिल भारतीय पहल है. अमित शाह कल शाम 7 बजे कुतुब मीनार में एक भव्य प्रोजेक्शन मैपिंग शो के दौरान आधिकारिक तौर पर वर्चुअल प्लेटफॉर्म का शुभारंभ करेंगे. यह वर्चुअल प्लेटफॉर्म https://mgmd.gov.in लोगों को भारत के गांवों से जोड़ेगा.

भारत के 6.5 लाख गांवों का सांस्कृतिक मानचित्रण

संस्कृति मंत्रालय ने इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र (आईजीएनसीए) के समन्वय से राष्ट्रीय सांस्कृतिक मानचित्रण मिशन के अंतर्गत ‘मेरा गांव मेरी धरोहर’ (एमजीएमडी) परियोजना का शुभांरभ किया है. परियोजना का मुख्य उद्देश्य एक व्यापक वर्चुअल मंच पर 29 राज्यों और 7 केंद्र शासित प्रदेशों में फैले भारत के 6.5 लाख गांवों का सांस्कृतिक मानचित्रण करना है. एमजीएमडी के माध्यम से लोगों को भारत की विविध और जीवंत सांस्कृतिक विरासत को जानने का अवसर मिलेगा.

कुतुब मीनार में सुबह 11 बजे से रात 10 बजे तक शुभारंभ कार्यक्रम

इस परियोजना का मुख्य उद्देश्य भारत की समृद्ध संस्कृति और परंपराओं को प्रोत्साहित करना, ग्रामीण समुदायों में आर्थिक विकास, सामाजिक सद्भाव और कलात्मक विकास का मार्ग प्रशस्त करना है. कल गुरुवार को नयी दिल्ली के कुतुब मीनार में सुबह 11 बजे से रात 10 बजे तक शुभारंभ कार्यक्रम का आयोजन होगा. इस शुभारंभ कार्यक्रम में आगंतुकों को भारत के गांवों की जानकारी प्राप्त करने और वर्चुअल यात्रा करने का अवसर प्रदान किया जायेगा.

स्टॉल सुबह 11 बजे से रात 10 बजे तक खुले रहेंगे

यह प्रदर्शनी और स्टॉल सुबह 11 बजे से रात 10 बजे तक खुले रहेंगे, जिसमें प्रत्येक गांव की सांस्कृतिक धरोहरों की मनोरम झलक दिखाई जायेगी. शाम 7 बजे प्रारंभ होने वाले शुभारंभ समारोह में कुतुब मीनार पर एक प्रोजेक्शन मैपिंग शो भी होगा, जिसमें भारत के कुछ चुनिंदा गांवों की अलग-अलग थीम दिखाई जायेगी. एमजीएमडी के शुभारंभ समारोह की फिल्म एक आकर्षक और प्रेरणादायक गाथा प्रस्तुत करेगी, जिसके माध्यम से हमारी सांस्कृतिक जड़ों से जुड़ाव को और मजबूत बनाया जा सकेगा.

अलग-अलग गांवों के ग्रामीणों के साथ एक ‘संवाद’

इस कार्यक्रम के दौरान अमित शाह अलग-अलग गांवों के ग्रामीणों के साथ एक “संवाद” भी करेंगे. इस संवाद के माध्यम से भारत के गांवों के हृदय और आत्मा से जुड़ने का एक अनूठा अवसर प्राप्त होगा. इस संवाद का संचालन रेडियो चैनल फीवर-104.8 एफएम के आरजे शरत द्वारा किया जायेगा. शुभारंभ समारोह का समापन प्रसिद्ध कलाकारों जावेद अली और अन्वेशा की संगीतमय प्रस्तुति के साथ होगा. राष्ट्रीय सांस्कृतिक मानचित्रण मिशन (एनएमसीएम) के मार्गदर्शन के अंतर्गत मेरा गांव मेरी धरोहर (एमजीएमडी) का 29 राज्यों और 7 केंद्र शासित प्रदेशों में भारत के 6.5 लाख गांवों को एक वर्चुअल मंच पर सांस्कृतिक रूप से मानचित्रित करने के लक्ष्य के साथ शुभारंभ किया जा रहा है.

भारत की विविध और समृद्ध संस्कृति को जानने का अवसर

इससे दुनिया को भारत की विविध और समृद्ध संस्कृति को जानने का अवसर मिलेगा. यह व्यापक पोर्टल प्रत्येक गांव के बारे में आवश्यक जानकारी प्रदर्शित करता है, जिसमें उसकी भौगोलिक स्थिति, जनसांख्यिकीय पहलू और पारंपरिक पोशाक, आभूषण, कला और शिल्प, मंदिर, मेले, त्योहार और अन्य बहुत से विवरण शामिल हैं. यह देश के हर गांव की खोज, शोध और वर्चुअल भ्रमण के लिए वन-स्टॉप स्थल के रूप में कार्य करता है. इसके अलावा उपयोगकर्ताओं को अपनी डिजिटल गांव यात्रा प्रारंभ करने के लिए प्रोत्साहित करने के साथ-साथ उन्हें डिजिटल रूप से गांव की यात्रा से होने वाले समृद्ध अनुभव को अर्जित करने का अवसर प्रदान करता है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.