Sahara के न‍िवेशकों को बड़ी राहत, अमित शाह ने योजना में फंसे 112 छोटे निवेशकों का 10-10 हजार रुपये किया रिफंड

60

Sahara Refund Portal: सहारा इंडिया के निवेशकों का इंतजार खत्म होने वाला है. केंद्रीय सहकारिता मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने 112 लोगों के खाते में 10,000 रुपये की पहली किस्त ट्रांसफर कर दिया है. उन्होंने इस मौके पर बताया कि अभी तक 18 लाख लोगों ने रिफंड के लिए आवेदन किया है. इस पोर्टल की शुरुआत 18 जुलाई को हुई थी. उन्होंने धनराशि जारी करने के बाद कहा कि अबतक 18 लाख निवेशकों ने पोर्टल पर पंजीकरण कराया है. आज 112 निवेशकों में प्रत्येक के बैंक खाते में लगभग 10,000 रुपये स्थानांतरित किए गए हैं. ऑडिट पूरा होते ही धनराशि की अगली किस्त जल्द ही हस्तांतरित की जाएगी. उन्होंने जमाकर्ताओं को बधाई देते हुए कहा कि मैं भरोसा देना चाहता हूं और मुझे पूरा विश्वास है कि आने वाले दिनों में सभी जमाकर्ताओं को उनकी धनराशि मिल जाएगी. अमित शाह ने कहा कि यह सुनिश्चित करना सरकार की जिम्मेदारी है कि निवेशकों का धन सुरक्षित रहे और उन्हें वापस मिले.

नौ महीने में लौटेगी धन राशि

केंद्रीय गृह और सहकारिता मंत्री अमित शाह ने कहा कि प्रबंधन की गलती और अदालती मुकदमों में देरी के कारण सहारा के जमाकर्ताओं को पिछले 12-15 वर्षों से उनका धन वापस नहीं मिल रहा था. शाह ने सेबी-सहारा फंड से 5,000 करोड़ रुपये हासिल करने के लिए सहकारिता मंत्रालय के प्रयासों का उल्लेख करते हुए कहा कि मंत्रालय ने इस मुद्दे पर सीबीआई और आयकर विभाग सहित सभी संबंधित सरकारी निकायों को साथ लाने की पहल की. इसके साथ ही उच्चतम न्यायालय से अपील की गई कि धन पर पहला अधिकार छोटे निवेशकों को मिलना चाहिए. उन्होंने कहा कि अगर हमें देश में सहकारी आंदोलन को मजबूत करना है, तो हमें सहकारी समितियों में भरोसे को मजबूत करना होगा. सरकार ने 29 मार्च को कहा था कि चारों सहकारी समितियों के 10 करोड़ निवेशकों को नौ महीने के भीतर धन लौटा दिया जाएगा.

कैसे मिलेगा पैसा वापस

केंद्र सरकार के द्वारा लॉच किये गए पोर्टल https://mocrefund.crcs.gov.in/ के माध्यम से सहारा समूह के चार को-ऑपरेटिव सोसाइटी के निवेशकों को ही पैसा वापस मिलेगा. पोर्टल के माध्यम से केवल वो निवेशक पैसा वापसी के लिए आवेदन कर सकते हैं जिन्होंने सहारा क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड, सहारायन यूनिवर्सल मल्टीपर्पज सोसइटी लिमिटेड, हमारा इंडिया क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड और स्टार्स मल्टीपर्पज कोऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड में अपना निवेश किया था. आवेदन करने से पहले निवेशक को पता करना होगा कि सहारा समूह की किस समिति में पैसा लगा है. साथ ही, आवेदक के पास इससे जुड़े सारे दस्तावेज होने चाहिए. सहारा क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड, सहारायन यूनिवर्सल मल्टीपर्पज सोसइटी लिमिटेड, हमारा इंडिया क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड में जमाकर्ता के वही पैसे वापस होंगे जो 22 मार्च 2022 से पहले जमा हुए थे. जबकि, स्टार्स मल्टीपर्पज को-ऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड हैदराबाद के 29 मार्च 2023 से पहले के निवेशक आवेदन कर सकते है.

कब मिलेगा पूरा पैसा वापस

सहारा इंडिया में निवेश करने वाले लोगों को सबसे पहले सरकार के द्वारा लॉच साइट पर जाकर रजिस्ट्रेशन करना होगा. जहां से इनके मोबाइल नंबर पर एक मैसेज भेज जाएगा. इसके बाद, उनके दावे को सहारा सोसाइटी के द्वारा 30 दिनों के अंदर वेरिफाइ किया जाएगा. इसके बाद सरकारी अधिकारियों के द्वारा इसपर 15 दिनों के अंदर इसपर कार्रवाई की जाएगी. निवेशक का दावा अप्रूव होने पर राशि सीधे आधार नंबर से जुड़े एकाउंट में भेज दिया जाएगा.

क्या है पैसा वापस करने का पूरा प्रोसेस

सहारा के निवेशक रिफंड के लिए आवेदन करने से पहले अपने सारे दस्तावेज इक्कठा कर लें. इसके बाद https://mocrefund.crcs.gov.in/ पोर्टल पर जाए. यहां मांगी गयी जानकारी देकर अपना रजिस्ट्रेशन करें. इसके बाद अपना आधार नंबर और उससे जुड़ा मोबाइल नंबर डालें. इसके बाद नीचे दिये सेंड ओटीपी पर क्लिक करें. मोबाइल पर आए ओटीपी को डाले. रजिस्ट्रेशन पूरा होने पर फिर से निवेशक लॉग इन में जाएं. यहां फिर से मोबाइल नंबर और आधार नंबर डाले. मोबाइल पर आए ओटीपी को डालें. इसके बाद मैं सहमत हूं पर क्लिक करें. आपसे और सोसाइटी के सदस्य होने से जुड़ी मांगी गयी पूरी जानकारी दें. क्लेम की राशि अगर 50 हजार से ऊपर है तो पैन नंबर भी डालें. बता दें कि निवेशक केवल एक बार दावा कर सकता है. इसलिए पूरी डिटेल को कई बार पढ़कर कंफर्म करें. आवेदन को डाउनलोड करके सुरक्षित रखें.

कब तक कर सकते हैं अप्लाई

सरकार के द्वारा क्लेम करने की आखिरी तारीख अभी तक नहीं जारी की गयी है. ऐसे में आवेदक आराम से अभी अपने निवेश का पूरा कागज जमा करके क्लेम कर सकते हैं.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.