Amarnath Yatra 2023: अमरनाथ यात्रा आज से शुरू, यात्रियों को इन बातों का रखना होगा ध्यान

61

Amarnath Yatra 2023: पुख्ता सुरक्षा प्रबंधों के बीच अमरनाथ यात्रा आज 1 जुलाई से शुरु हो गई है. भक्तों का पहला जत्था अमरनाथ गुफा के लिए रवाना कर दिया गया है. शुक्रवार सुबह जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने जम्मू बेस कैंप से पहले जत्थे को हरी झंडी दिखाकर रवाना कर दिया है. ये जत्था पवित्र गुफा के दर्शन करने निकल गया है.

62 दिन की यात्रा के लिए किया गया खास इंतजाम

बाबा अमरनाथ बर्फानी के भक्त पहलगाम और बालटाल के रास्ते पवित्र गुफा की ओर निकल पड़े हैं. यात्रा के लिए 3488 तीर्थयात्रियों का पहला जत्था बेस कैंप से अपने-अपने निर्धारित प्वाइंट पर पहुंचा था. दोनों रूट पर कड़े सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं. दक्षिण कश्मीर के हिमालय की पहाड़ियों में 3880 मीटर की ऊंचाई पर स्थित बाबा की गुफा की 62 दिन की यात्रा में सुरक्षा और स्वास्थ्य को लेकर खास ध्यान रखा जा रहा है.

अमरनाथ यात्रा क्या है?

अमरनाथ यात्रा अनंतनाग जिले में पारंपरिक 48 किलोमीटर लंबे नुनवान पहलगाम मार्ग और गांदरबल जिले में 14 किलोमीटर छोटे लेकिन खड़ी बालटाल मार्ग को जोड़ने वाले मार्गों पर एक तीर्थयात्रा है. हिंदू धर्म में पवित्र मानी जाने वाली वार्षिक तीर्थयात्रा, हिमालय के बीच दक्षिण कश्मीर में 3,880 मीटर ऊंचे पवित्र अमरनाथ गुफा मंदिर में स्थित है. अमरनाथ को भगवान शिव के सबसे पवित्र तीर्थस्थलों में से एक माना जाता है. यात्रा हिंदू कैलेंडर के श्रावण महीने में होती है और यही एकमात्र समय है जब गुफाएं आम जनता के लिए पहुंच के लिए संभव होती है. यह यात्रा इस साल 31 अगस्त तक चलेगी.

क्या करना चाहिए? 

  • हर यात्री को यात्रा शुरू करने से पहले जम्मू-कश्मीर में निर्धारित स्थानों से अपना आरएफआईडी कार्ड प्राप्त करना होगा.

  • सभी यात्रियों को यात्रा के दौरान हर समय एसएएसबी द्वारा जारी आरएफआईडी कार्ड पहनना अनिवार्य है.

  • यात्रा के दौरान को आरामदायक कपड़े और ट्रैकिंग जूते पहनने की सलाह दी गई है.

  • यात्रियों को सलाह दी गई है कि चढ़ाई के वक्त धीरे-धीरे चलें और खुद को वातावरण अनुकूलित करने के लिए समय लें.

  • यात्रियों को खुद को हाइड्रेटेड रखने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीना चाहिए.

  • यदि किसी यात्री को सांस लेने में तकलीफ महसूस हो तो उसे निकटतम मेडिकल हेल्प से संपर्क करना चाहिए.

यात्रा के दौरान क्या नहीं करें?

  • यात्रियों को अपनी क्षमता से अधिक परिश्रम करने से बचना चाहिए और रास्ते में आराम के लिए बार-बार ब्रेक लेना चाहिए.

  • आरएफआईडी कार्ड के बिना किसी भी यात्री को यात्रा नहीं करनी चाहिए.

  • यात्रियों को ट्रैकिंग के रास्ते पर कूड़ा-करकट फैलाने से बचना चाहिए.

  • वहीं, यात्रियों को खाली पेट यात्रा शुरू नहीं करने की सलाह दी गई है.

  • यात्रियों को शराब, कैफीन या धूम्रपान नहीं करने की सलाह दी गई है.

  • यात्रियों को ट्रैकिंग के दौरान कोई छोटा रास्ता अपनाने का प्रयास नहीं करना चाहिए. ये आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.