Amarnath Yatra 2023: कल से शुरू होगी अमरनाथ यात्रा, ये दस्तावेज हैं जरूरी

7

Amarnath Yatra 2023: हिंदू धर्म में अमरनाथ यात्रा का खास महत्व है. सभी श्रद्धालु यात्रा के दौरान समुद्र तल से करीबन 13,600 फीट ऊपर स्थित बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए काफी लंबी और मुश्किलों से भरी यात्रा करते हैं. अमरनाथ यात्रा को कई धार्मिक ग्रंथों में मोक्ष का द्वार बताया गया है. अमरनाथ यात्रा में हर साल सैंकड़ों की संख्या में लोग शामिल होते हैं और स्वयंभू शिवलिंग के दर्शन पाकर धन्य हो जाते हैं. बता दें इस साल अमरनाथ यात्रा की शुरुआत 1 जुलाई से हो रही है और यह यात्रा 31 अगस्त को खत्म होने वाली है. इसके लिए जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने जम्मू बेस कैंप से पहले बैच को हरी झंडी दिखाकर रवाना कर दिया है.

कब से शुरू होगी अमरनाथ यात्रा?

इस साल अमरनाथ की यात्रा 1 जुलाई से शुरू होगी और 31 अगस्त तक चलेगी. अमरनाथ यात्रा कुल 62 दिनों की होगी. कल से यह यात्रा जम्मू कश्मीर के दो मार्गों से शुरू होगी. इन दोनों मार्गों की बात करें तो इसमें अनंतनाग जिले में पारंपरिक 48 किलोमीटर लंबा नुनवान-पहलगाम मार्ग और गांदरबल जिले में 14 किलोमीटर छोटा बालटाल मार्ग शामिल है. इस यात्रा के लिए 17 अप्रैल से ही रजिस्ट्रेशन शुरू कर दी गयी है. आप अगर चाहें तो ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही माध्यम से रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं. मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो अबतक इस यात्रा के लिए करीबन 3 लाख लोग रजिस्टर करा चुके हैं.

कौन कर सकता है यात्रा?

अगर आप सोच रहे हैं कि बाबा अमरनाथ के दर्शन के लिए इस यात्रा में कौन शामिल हो सकते हैं तो बता दें, इस यात्रा के लिए 13 साल से लेकर 75 साल तक के लोगों को जाने की अनुमति दी गयी है. वहीं, प्रेग्नेंट महिलाएं इस यात्रा में शामिल नहीं हो सकती. अमरनाथ यात्रा के लिए अलग-अलग बैंकों से रजिस्ट्रेशन कराने पर अलग-अलग शुल्क चुकाना पड़ेगा. यह रजिस्ट्रेशन शुल्क 100 रुपये से लेकर 220 रुपये के बीच है. अगर आप यात्रा के लिए हेलीकाॅप्टर बुक करते हैं तो आपको अतिरिक्त 13,000 रुपये का भुगतान करना पड़ेगा. वहीं, अगर आप बालटाल से पवित्र गुफा श्रमिक पिट्ठू द्वारा जाते हो तो आपको लगभग 4,000 खर्च करने होंगे और अगर आप घोड़े की मदद से जाते हो तो आपको करीब 5,000 खर्च करने होंगे.

ये दस्तावेज हैं जरूरी

  • यात्रा शुरू करने से पहले हर यात्री को जम्मू-कश्मीर में निर्धारित स्थानों से अपना आरएफआईडी कार्ड हासिल करना होगा.

  • यात्रा के दौरान सभी यात्रियों को हर समय एसएएसबी द्वारा जारी आरएफआईडी कार्ड अपने गले पर टांग कर रखना होगा.

  • सभी यात्रियों को सलाह दी गयी है कि यात्रा के दौरान वे गरम कपडे और ट्रैकिंग शू पहने.

  • सभी यात्रियों को सलाह दी गयी है कि, चढ़ाई करते वक़्त वे धीमी गति से चलें और अपने आप को वातावरण के अनुकूल ढालने के लिए पर्याप्त समय लें.

  • सभी यात्रियों को यात्रा के दौरान पानी पीते रहने की सलाह दी गयी है.

  • यात्रा के दौरान अगर किसी भी यात्री को सांस लेने में परेशानी हो तो वे जल्द से जल्द पास में मौजूद मेडिकल हेल्प से कांटेक्ट करें.

अमरनाथ यात्रा के लिए ये हैं गाइडलाइन

  • यात्रा के दौरान किसी भी यात्री को उसके क्षमता से अधिक मेहनत करने से बचने की सलाह दी गयी है.

  • किसी भी यात्री को आरएफआईडी कार्ड के बिना यात्रा करने से मना किया गया है.

  • यात्रा के दौरान यात्रियों को कूड़ा कचड़ा फेकने से मना किया गया है.

  • यात्रियों को खली पेट यात्रा करने से मना किया गया है.

  • यात्रा से पहले या यात्रा के दौरान यात्रियों को शराब, कैफीन या धूम्रपान का सेवन करने से मना किया गया है.

  • यात्रियों को किसी भी छोटे मार्ग को अपनाने से मना किया गया है क्योंकि, ऐसा करना उनके लिए खतरनाक और जानलेवा साबित हो सकता है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.