अजित पवार के साथ सीक्रेट मीटिंग में शरद पवार को बड़ा ऑफर? टेंशन में कांग्रेस, राउत ने दिया बड़ा रिएक्शन

58

महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार और एनसीपी प्रमुख शरद पवार के बीच पिछले दिनों पुणे में हुई सीक्रेट मीटिंग को लेकर सियासी सरगर्मी तेज है. इस मामले में अब खबर आ रही है कि भतीजे अजित ने उस बैठक में चाचा शरद पवार को बड़ा ऑफर दिया है. इस खबर से कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ गयीं हैं.

अजित पवार के चाचा शरद को ऑफर दिये जाने पर संजय राउत का बड़ा बयान

अजित पवार द्वारा शरद पवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल में जगह देने की पेशकश की खबरों पर उद्धव ठाकरे गुट के सांसद संजय राउत ने कहा, अजित पवार इतने बड़े नेता नहीं हैं कि वह शरद पवार को ऑफर दे सकें. अजित पवार को शरद पवार साहब ने बनाया है अजित पवार ने शरद पवार को नहीं बनाया. 60 वर्ष से भी ज्यादा समय पवार साहब ने संसदीय राजनीति में बिताया है और 4 बार महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री रहे हैं. उनका जो कद है वह बहुत बड़ा है.

कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण का दावा, बीजेपी ने अजित पवार के जरिये शरद पवार को बड़े ऑफर की पेशकश की

कांग्रेस नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने दावा किया है कि बीजेपी ने अजित पवार के जरिये शरद पवार को बड़े ऑफर की पेशकश की है. चव्हाण के इस दावे के बाद महाराष्ट्र की राजनीति में एक बार फिर से हलचल शुरू हो गयी है. एक अखबार के अनुसार अजित पवार ने अपने चाचा शरद को केंद्र में कृषि मंत्री बनाने और नीति आयोग के अध्यक्ष पद का ऑफर दिया है.

शरद पवार और अजित पवार की ‘गुप्त बैठक’ चिंता का विषय : महाराष्ट्र कांग्रेस

कांग्रेस की महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष नाना पटोले ने अजित पवार और शरद पवार के बीच सीक्रेट मीटिंग के बाद कहा था, दोनों नेताओं की बैठक पार्टी के लिए चिंता का विषय है. शरद पवार महा विकास आघाडी (एमवीए) का हिस्सा हैं जिसमें उनकी पार्टी के साथ शिवसेना (यूबीटी) और कांग्रेस शामिल हैं जबकि उनके भतीजे अजित पवार पिछले माह एनसीपी को तोड़ अपने समर्थकों के साथ राज्य की एकनाथ शिंदे नीत शिवसेना और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार में शामिल हो गए थे. पटोले ने कहा था, यह हमारे लिए चिंता का विषय है और हम शरद पवार और अजित पवार की गुप्त बैठकों को स्वीकार नहीं करते. हालांकि, इस मुद्दे पर कांग्रेस के शीर्ष नेता चर्चा करेंगे. ‘इंडिया’ गठबंधन में भी इस पर चर्चा की जाएगी, इसलिए यह मेरे लिए उचित नहीं होगा कि मैं इस पर आगे बात करूं. उन्होंने कहा, कांग्रेस ने हर उस दल या नेता से हाथ मिलाने का फैसला किया है जो भाजपा का विरोध करने को इच्छुक है. ऐसे में इन कयासों में कोई सच्चाई नहीं है कि कांग्रेस शरद पवार को साथ लिए बिना अकेले लोकसभा चुनाव लड़ने पर विचार कर रही है.

अजित पवार के साथ बैठक के बाद शरद पवार ने कहा था, कोई बीजेपी में नहीं जाएगा

अजित पवार के साथ सिक्रेट बैठक के बाद शरद पवार ने बयान दिया था और कहा था कि यह बैठक कोई सीक्रेट नहीं थी. वो परिवार के सबसे वरिष्ठ हैं और वैसे में एक-दुसरे मिलना कोई बड़ी बात नहीं है. शरद पवार ने अपने गृहनगर बारामती में लोगों से कहा था कि कुछ लोगों ने अलग रास्ता अपनाया है लेकिन जब उनको स्थिति का अहसास होगा तो वे अपने रुख को बदल सकते हैं. उन्होंने कहा, वे लोग अपना रुख बदलें या नहीं, हम अपने रास्ते से नहीं हटेंगे जिसे हमने चुना है. शरद पवार ने कहा, मैंने महाराष्ट्र (मतदाताओं) से कहा है कि किसी के लिए मतदान करिए और अब मैं उनसे यह नहीं कह सकता कि किसी और के लिए मतदान करें जिसका हमने लंबे समय से विरोध किया है. शरद पवार ने कहा कि वह गुरुवार को बीड में जनसभा का आयोजन करेंगे.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.