AIMIM नेता अकबरुद्दीन ओवैसी ने ऑन ड्यूटी पुलिस अधिकारी को दी धमकी, किसी की हिम्मत नहीं…, जानें पूरा मामला

7

AIMIM के नेता अकबरुद्दीन ओवैसी के खिलाफ एक ऑन ड्यूटी अधिकारी को धमकाने का केस दर्ज किया गया है. हैदराबाद दक्षिण पूर्व क्षेत्र के डीसीपी रोहित राजू ने मीडिया को यह जानकारी दी है कि संतोष नगर के एसएचओ की शिकायत पर अकबरुद्दीन ओवैसी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. मामला आईपीसी की धारा 353 के तहत दर्ज किया गया है. इस धारा में किसी अधिकारी के कर्तव्यों में बाधा डालने पर केस दर्ज किया जाता है.

किसी की हिम्मत नहीं है कि वो मुझे रोक ले : अकबरुद्दीन 

गौरतलब है कि मंगलवार रात को एआईएमआईएम के नेता अकबरुद्दीन ओवैसी एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे. सभा करने का समय समाप्त होने पर एक पुलिस अधिकारी ने उन्हें भाषण रोकने को कहा, इसपर अकबरुद्दीन ओवैसी गुस्से में आ गए और उस अधिकारी को धमकाने लगे. उसे धमकाने के बाद ओवैसी ने कहा कि मैं अभी पांच मिनट और बोलूंगा किसी की हिम्मत नहीं है कि वो मुझे रोक ले. पुलिस अधिकारी ने उन्हें आदर्श आचार संहिता के नियमों के अनुसार रात के दस बजे तक अपना भाषण समाप्त करके सभा स्थल खाली करने को कहा था.

चंद्रायणगुट्टा विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं अकबरुद्दीन ओवैसी

अकबरुद्दीन ओवैसी चंद्रायणगुट्टा विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं और अपनी बेबाक बयानबाजी के लिए जाने जाते हैं. वे असदुद्दीन ओवैसी के भाई हैं और उनकी पहचान एक तेज तर्रार नेता के रूप में होती है. ओवैसी ने पुलिस अधिकारी को धमकाते हुए कहा कि वे वहां से भाग जाएं, अन्यथा उनके एक इशारे पर उन्हें वहां से भगा दिया जाएगा.

बचाव में आए असदुद्दीनओवैसी

इस घटना के बाद एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी ने अपने भाई का बचाव करते हुए कहा कि आदर्श आचार संहिता के तहत 10 बजे तक कोई सभा कर सकता है. अगर दस बजकर एक मिनट भी हो जाता तो पुलिस अधिकारी का दखल देना सही था, लेकिन पांच मिनट पहले वे कैसे मंच पर चढ़कर आपत्ति कर सकते हैं. यह कौन सा नियम है और यह अधिकारी का किस तरह का व्यवहार है?

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.