Adani Group: हिंडनबर्ग नुकसान पर अदाणी का बड़ा प्लान, 84 अरब डॉलर खर्च करने की योजना बनाई, शेयर में दिखा एक्शन

3

Adani Group: इस साल जनवरी के महीने में अमेरिकी शॉर्ट-सेलर हिंडनबर्ग के द्वारा अदाणी समुह पर कॉर्पोरेट धोखाधड़ी के आरोप लगाए गए थे. इसके बाद, समूह को बाजार में भारी नुकसान उठाना पड़ा. हालांकि, हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने मामले में सुनवाई करते हुए फैसला सुरक्षित रख लिया. साथ ही, कंपनी के लिए सकारात्मक बाते भी कहीं. इससे पिछले सप्ताह अदाणी ग्रुप के शेयरों में खास तेजी देखने को मिली. ये तेजी आज भी जारी है. इस बीच अब खबर आ रही है कि ग्रुप के द्वारा अब अपने बुनियादी ढ़ाचे पर करीब 7 ट्रिलियन रुपये ($84 बिलियन) रुपये खर्च करने की योजना बनायी जा रही है. अदाणी समूह के मुख्य वित्तीय अधिकारी जुगेशिंदर सिंह ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि हम और अधिक निवेश करने की इच्छा रखते हैं. उन्होंने कहा कि समूह का लक्ष्य अगले साल अदाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक ज़ोन लिमिटेड और अदानी एनर्जी सॉल्युटन्स लिमिटेड सहित अपनी कंपनियों के माध्यम से उच्च उपज वाले कागजात और निजी प्लेसमेंट के माध्यम से बांड जुटाना है. अदानी समूह अगले साल सितंबर और दिसंबर में परिपक्व होने वाली अपनी हरित ऊर्जा शाखा के बांडों को चुकाने के लिए भी धन लगाएगा, संभावित रूप से जुलाई में, ताकि पूर्व भुगतान दंड से बचा जा सके.

क्या है आज अदाणी ग्रुप के शेयर का हाल

अदाणी ग्रुप के शेयरों में इस सप्ताह तेजी का रुख रहने की उम्मीद की जा रही है. आज Adani Enterprises Ltd के शेयर करीब 8.60 प्रतिशत यानी 203.30 रुपये की तेजी के साथ 2566 रुपये पर कारोबार कर रहा है. वहीं, अदाणी पॉवर के शेयरों में तेजी बरकरार है. कंपनी के शेयर सुबह 9.20 बजे 7.31 प्रतिशत यानी 32.20 रुपये की तेजी के साथ 472.60 रुपये पर कारोबार कर रहा था. Adani Total Gas Ltd के शेयर 6.17 प्रतिशत की तेजी के साथ 744.70 रुपये पर कारोबार कर रहे थे. Adani Energy Solutions Ltd के शेयर में 6.91 प्रतिशत की तेजी बनी हुई है. ये 913.80 रुपये पर कारोबार कर रहा है.

सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा

उच्चतम न्यायालय ने कहा कि हिंडनबर्ग रिपोर्ट में अडाणी समूह के खिलाफ लगे आरोपों की जांच करने वाले बाजार नियामक सेबी पर संदेह करने की कोई वजह नहीं है. उसने कहा कि बाजार नियामक की जांच के बारे में भरोसा नहीं करने के लायक कोई भी तथ्य उसके समक्ष नहीं है. इसके साथ ही शीर्ष अदालत ने कहा कि वह हिंडनबर्ग रिपोर्ट में किए गए दावों को पूरी तरह तथ्यों पर आधारित नहीं मानकर चल रहा है. पीठ ने कहा कि उसके समक्ष कोई तथ्य न होने पर अपने स्तर पर विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन करना उचित नहीं होगा. मुख्य न्यायाधीश डी वाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली एक पीठ ने अडाणी-हिंडनबर्ग मामले से संबंधित पक्षों की दलीलें सुनने के बाद अपना आदेश सुरक्षित रख लिया. न्यायालय ने कुछ मीडिया रिपोर्ट के आधार पर सेबी को अदाणी-हिंडनबर्ग मामले की जांच के लिए कहे जाने पर आपत्ति जताई. उसने कहा कि वह एक वैधानिक नियामक को मीडिया में प्रकाशित किसी बात को अटल सत्य मानने को नहीं कह सकता है.

पिछले सप्ताह अदाणी की हुई जबरदस्त कमाई

सुप्रीम कोर्ट के कंपनी की तरफ सकारात्मक रुख के कारण, शेयर बाजार में अदाणी समूह के स्टॉक में तेजी देखने को मिली. ग्रुप के पिछले सोमवार को करीब एक लाख करोड़ रुपये की कमाई की. पिछले सप्ताह बीएसई सेंसेक्स 1,511.15 अंक यानी 2.29 प्रतिशत चढ़ गया जबकि निफ्टी में 473.2 अंक यानी 2.39 प्रतिशत की बढ़त रही. जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर का मानना है कि जीडीपी के अनुमान से बेहतर आंकड़े वित्त वर्ष 2023-24 के लिए वृद्धि का नजरिया देंगे और इससे बाजार को तेजी की रफ्तार कायम रखने का उत्साह मिलेगा. इसके अलावा वाहनों के मासिक बिक्री आंकड़ों से भी उत्साह नजर आया. भारत का सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) वृद्धि दर जुलाई-सितंबर तिमाही में उम्मीद से कहीं अधिक 7.6 प्रतिशत रही. इस तरह भारत ने दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्था का अपना दर्जा बरकरार रखा है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.