बैंकों में Aadhaar अथेन्टिकेशन करा सकते हैं अमरनाथ यात्री, 17 अप्रैल से रजिस्ट्रेशन शरू

29

नई दिल्ली : साल 2023 में 1 जुलाई से अमरनाथ यात्रा की शुरुआत होगी और करीब 62 दिनों के बाद 30 अगस्त को रक्षा दिन इसका समापन हो जाएगा. सबसे बड़ी बात यह है कि जो लोग अमरनाथ यात्रा का प्लान बना रहे हैं, उन्हें पंजीकरण के दौरान ही निर्धारित बैंकों में बायोमेट्रिक्स सत्यापन के साथ अपने आधार के ब्योरे का प्रमाणित करवाना होगा. इसके बाद ही, निर्धारित बैंकों की ओर से स्टांपयुक्त यात्रा के लिए परमिट प्रदान किया जा सकेगा.

हालांकि, इससे पहले, यात्रियों को जम्मू-कश्मीर के पर्यटन केंद्रों पर पहुंचने के बाद आधार प्रमाणीकरण करना पड़ता था, जो काफी दुष्कर था, क्योंकि उन्हें आधार प्रमाणीकरण के लिए लंबी कतारों में खड़े रहकर घंटों इंतजार करना पड़ता था. आधार प्रमाणीकरण के बाद ही यात्रियों को यात्रा के लिए रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन टैग जारी किए जाते थे. लेकिन, अब अमरनाथ यात्रा करने वालों को आधार प्रमाणीकरण के लिए यात्रा शुल्क का भुगतान करते समय ही निर्दिष्ट बैंकों की शाखाओं में ही अपने आधार का प्रमाणीकरण करा सकते हैं. इसके बाद जम्मू-कश्मीर के पर्यटन केंद्रों पर पहुंचने के बाद उन्हें बस यात्रा परमिट दिखाकर रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन टैग लेने की जरूरत है.

17 अप्रैल से पंजीकरण शुरू

जम्मू-कश्मीर सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बैंक शाखाओं में आधार के बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण की सुविधा अमरनाथ यात्रा के इतिहास में पहली बार शुरू की जा रही है. पिछले साल की अपेक्षा इस साल सभी यात्रियों के लिए आवश्यक रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन टैग को हासिल करने की प्रक्रिया को आसान और तेज किया जाएगा. अमरनाथ यात्रा की तारीखों का ऐलान करते हुए जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल ने कहा कि पवित्र गुफा की वार्षिक तीर्थयात्रा के लिए पंजीकरण 17 अप्रैल से शुरू होगा. बता दें कि उपराज्यपाल मनोज सिन्हा अमरनाथजी श्राइन बोर्ड के पदेन अध्यक्ष भी हैं.

ड्रोन से होगी निगरानी

उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर प्रशासन सुचारू और परेशानीमुक्त तीर्थयात्रा सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है. सूत्रों ने कहा कि यात्रा में ड्रोन से निगरानी के अलावा केंद्रीय अर्द्धसैनिक बलों की बहुस्तरीय तैनाती होगी. उराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि परेशानीमुक्त तीर्थयात्रा, सर्वोत्तम स्वास्थ्य सेवा और भक्तों को आवश्यक सुविधाएं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह की सर्वोच्च प्राथमिकताएं हैं. उन्होंने कहा कि प्रशासन सभी अपने वाले भक्तों और सेवा प्रदाताओं को सर्वोत्तम श्रेणी की स्वास्थ्य सेवा और अन्य आवश्यक सुविधाएं प्रदान करेगा. उन्होंने कहा कि तीर्थयात्रा शुरू होने से पहले दूरसंचार सेवाएं चालू कर दी जाएंगी. यात्रा के सुचारू संचालन के लिए आवास, बिजली, पानी, सुरक्षा और अन्य व्यवस्थाओं को सुनिश्चित करने के लिए सभी हितधारक विभाग समन्वय से काम कर रहे हैं.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.