Dengue in Delhi: दिल्ली में डेंगू के 3000 मामले, संक्रमण ने तोड़े पुराने रिकॉर्ड, DEN-2 वेरिएंट ने बढ़ाई चिंता

19

Dengue in Delhi: देश की राजधानी दिल्ली में डेंगू का कहर जारी है. हर दिन दिल्ली में डेंगू के नये नये मामले सामने आ रहे हैं. बीते छह महीनों के आंकड़ों पर गौर करें तो राष्ट्रीय राजधानी में डेंगू के 3000 से ज्यादा मामले सामने आये हैं. वहीं, डेंगू से एक मरीज की जान तक चली गई है. दरअसल, दिल्ली नगर निगम (MCD) ने सदन में डेंगू को लेकर एक आधिकारिक आंकड़ा पेश किया था, जिसमें यह जानकारी दी गई. लिखित जवाब में साझा किये गये आंकड़े में निगम ने यह भी कहा कि सितंबर में जो मामले सामने आए, वे पिछले चार वर्षों में इस महीने में सबसे अधिक हैं. पांच अगस्त के बाद पहली बार आंकड़ा जारी किया गया है. पांच अगस्त को डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया पर आंकड़े साझा किये गये थे.

बीते सालों में कई गुणा बढ़े डेंगू के मामले
गौरतलब है कि राजधानी दिल्ली में इस साल डेंगू के मामलों में बहुत ज्यादा इजाफा हुआ है. बीते सालों की तुलना में इस साल रिकॉर्ड स्तर पर डेंगू के मामलों में इजाफा हुआ है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बीते साल सितंबर महीने तक दिल्ली में डेंगू के 185 मामलों की पुष्टि हुई थी. वहीं, इस साल यह संख्या बढ़कर 2700 के करीब पहुंच गई है. वहीं, डेंगू से कई लोगों की मौत भी हुई है.

बाढ़ के कारण बढ़े डेंगू के मरीज
गौरतलब है कि मानसून की शुरुआत के साथ ही दिल्ली में जोरदार बारिश हुई थी. दिल्ली के निचले इलाकों में बाढ़ आ गई थी. वहीं यमुना का पानी भी सड़कों पर बहने लगी था. इस कारण मच्छर और मच्छर जनित बीमारियों की संख्या में काफी इजाफा हुआ. दरअसल हर साल दिल्ली में बरसात अपने साथ बीमारियों की भी सौगात लाता है. बरसात के मौसम में डेंगू और मच्छर जनित बीमारियों में काफी इजाफा हो जाता है. इस बार यमुना में आये बाढ़ और जोरदार बारिश के कारण हुए जलभराव के कारण मलेरिया और डेंगू की समस्या में खास इजाफा देखने को मिला है.

गाजियाबाद में डेंगू के DEN-2 वैरिएंट ने बढ़ाई चिंता
हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, एनसीआर के गाजियाबाद में डेंगू के DEN-2 वेरिएंट मिले हैं. दरअसल, डेंगू के लक्षणों वाले 50 मरीजों के सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए लखनऊ भेजे गए थे. इनमें से 5 मरीज डेंगू के DEN-2 वैरिएंट से संक्रमित होने की पुष्टी हुई. बता दें, डेंगू के चार वेरिएंट DEN-1, DEN-2, DEN-3, DEN-4 सामने आए हैं. इनमें DEN-2 सबसे ज्यादा संक्रामक होता है.

डेंगू के क्या हैं लक्षण
बता दें, डेंगू मच्छर जनित बीमारी है, जो एक खास किस्म के मच्छरों के काटने से होता है. डेंगू में तेज बुखार होता है. इसके साथ ही मरीजों में प्लेटलेट्स काउंट में कमी होने लगती है. जिसका सही समय पर इलाज नहीं किया गया तो जान जाने का भी खतरा होता है. वहीं, DEN-2 वैरिएंट में मरीज के ब्लड प्रेशर में कमी होती है. इससे ग्रसित रोगी को कम पेशाब, कमजोरी और चक्कर आते हैं.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.