दिल्ली को दहलाने की कोशिश नाकाम, ISIS मॉड्यूल से जुड़े तीन आतंकी गिरफ्तार, क्या था इनका मास्टर प्लान!

39

दिल्ली पुलिस को सोमवार को बड़ी कामयाबी मिली है. एनआईए की मोस्ट वांटेड आतंकवादियों की सूची में शामिल आईएसआईएस मॉड्यूल से जुड़े आतंकियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. एक आरोपी का नाम मोहम्मद शाहनवाज है, वहीं दो उसके सहयोगियों हैं, जिन्हें दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया है. दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने बताया कि आरोपियों के पास से आईईडी बनाने में इस्तेमाल होने वाली संदिग्ध सामग्री मिली है. इनके पास से विस्फोटक उपकरण बनाने में इस्तेमाल होने वाले एलिमेंट्री प्लास्टिक ट्यूब, लोहे के पाइप, विभिन्न प्रकार के रसायन, टाइमिंग उपकरण और एक पिस्तौल तथा कारतूस मिले हैं.

दिल्ली पुलिस के स्पेशल CP एचजीएस धालीवाल ने कहा कि स्पेशल सेल लंबे समय से इंडियन मुजाहिदीन और ISIS सरगना पर नजर रख रही है. ऐसे कई मॉड्यूल का भंडाफोड़ हुआ है. इसी कड़ी में स्पेशल सेल ने पिछले महीने तीन लोगों के खिलाफ इनाम घोषित किया था, जिन पर विभिन्न विस्फोट मामलों में शामिल होने का आरोप था. मुख्य आरोपी शाहनवाज को उसके 2 अन्य साथियों के साथ आज सुबह गिरफ्तार किया गया. एक अन्य आरोपी मोहम्मद रिजवान फरार है. उन्हें अदालत में पेश किया गया और 7 दिन की पुलिस कस्टडी रिमांड दी गई. जब उनके ठिकानों पर छापेमारी की गई तो अलग-अलग उपकरण बनाने के लिए विस्फोटक बरामद किए गए.

तीनों आरोपी कर चुके हैं इंजीनियरिंग की पढ़ाई
दिल्ली पुलिस का कहना है कि शाहनवाज को दिल्ली के जैतपुर से गिरफ्तार किया है, जबकि मोहम्मद रिजवान अशरफ और मोहम्मद अरशद वारसी को उत्तर प्रदेश के लखनऊ और मुरादाबाद से गिरफ्तार किया गया है. अधिकारियों ने कहा कि तीनों आरोपियों को एक सप्ताह के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है. सबसे बड़ी बात की तीनों आरोपी इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर चुके हैं.

तीन लाख रुपये का इनामी था शाहनवाज
पुलिस ने प्रारंभिक पूछताछ का हवाला देते हुए कहा कि आरोपियों ने पश्चिमी और दक्षिण भारत के विभिन्न इलाकों की रेकी की थी तथा वे पश्चिमी घाट क्षेत्र में अपना अड्डा बनाना चाहते थे.अधिकारियों ने कहा कि शाहनवाज पुणे पुलिस की हिरासत से भाग गया था और दिल्ली में रह रहा था तथा उस पर तीन लाख रुपये का इनाम घोषित था.

आतंकियों का पाकिस्तान कनेक्शन!
वहीं, पुलिस ने बताया कि शाहनवाज के पास से विस्फोटक उपकरण बनाने में इस्तेमाल होने वाले एलिमेंट्री प्लास्टिक ट्यूब, लोहे के पाइप, विभिन्न प्रकार के रसायन, टाइमिंग उपकरण और एक पिस्तौल तथा कारतूस मिले हैं. वहीं, बम बनाने से संबंधित जानकारी आरोपियों के सीमा पार यानी पाकिस्तान से भेजे जाने का संदेह है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.