0 38

प्रैक्टिस और रिवीजन से ही बनेगा अंकों का रसायन शास्त्र, महज रटने से नहीं चलेगा काम
FacebooktwitterwpEmailaffiliates
UP Board 2021 रसायन शास्त्र में अच्छे अंक हासिल करने के लिए प्रैक्टिस व रिवीजन बेहद जरूरी है।Publish Date:Sun, 28 Feb 2021 10:01 AM (IST)Author: Saurabh Chakravarty
कोविड-19 महामारी के चलते इस बार पठन-पाठन काफी प्रभावित हुआ है लेकिन चिंता करने की बात नहीं है। यूपी बोर्ड ने इस बार हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के पाठ्यक्रमों में 30 फीसद कटौती की है। ऐसे में अब 70 फीसद सिलेबस से ही परीक्षा की तैयारी कराना है।

वाराणसी, जेएनएन। UP Board 2021 कोविड-19 महामारी के चलते इस बार पठन-पाठन काफी प्रभावित हुआ है, लेकिन चिंता करने की बात नहीं है। यूपी बोर्ड ने इस बार हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के पाठ्यक्रमों में 30 फीसद कटौती की है। ऐसे में अब 70 फीसद सिलेबस से ही परीक्षा की तैयारी कराना है। रही बात इंटर केमिस्ट्री की। मैथ व फिजिक्स की भांति रसायन विज्ञान में अच्छे अंक हासिल किए जा सकते हैं। रसायन शास्त्र में अच्छे अंक हासिल करने के लिए प्रैक्टिस व रिवीजन बेहद जरूरी है। मैथ की भांति केमिस्ट्री दिमाग लगाकर समझना होता है। केमिस्ट्री में भी न्यूमेरिकल व थ्योरी दोनों होती है। ऐसे में महज रटने से काम चलने वाला नहीं है। एक ही चैप्टर का बार-बार अभ्यास कर परीक्षा में अच्छे अंक लाए जा सकते हैं। निरंतर अभ्यास से ही केमिस्ट्री में अच्छे अंक लाने का मूल मंत्र है। ऐसे में परीक्षार्थियों के पास अब भी समय है। वे ईमानदारी से परीक्षा की तैयारी में जुट जाएं। अभिक्रियाओं पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है।


उदय प्रताप इंटर कालेज के रसायन शास्त्र के प्रवक्ता अंबिका सिंह के अनुसार यूपी बोर्ड के इंटर की केमिस्ट्री में अच्छे अंक हासिल करने कुछ टिप्स इस प्रकार हैं–

-यूपी बोर्ड में एनसीईआरटी की पुस्तक से ही सवाल पूछे जाएंगे। ऐसे में किसी भी रेफरेंस किताब से पढ़ाई करने से पहले एनसीईआरटी की पुस्तक से अभ्यास करें।

-केमिस्ट्री में फार्मूले अधिक होते हैं। अभ्यास से ही फार्मूले को समझा जा सकता है। वहीं कठिन लगने वाले फार्मूले का एक चार्ट बना लें, जब भी समय मिले। इस चार्ट के माध्यम से फार्मूला दोहराएं।


-केमिस्ट्री में ठोस अवस्था, विलयन, रासायनिक बलगतिकी एवं वैद्युत रसायन चैप्टर महत्वपूर्ण हैं। ऐसे में इन चैप्टर्स के सवालों को, सूत्रों को समझना बेहद जरूरी है।

-किसी यौगिक के निर्माण की प्रयोगशाला विधि का सचित्र वर्णन आदि महत्वपूर्ण हो सकते हैं।

-रासायनिक अभिक्रियाओं पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है।

-हर प्रश्न का उत्तर उदाहरण के साथ समझाने का प्रयास करें। उदाहरण सहित सवालों को हल करने से पूरे-पूरे अंक मिलने की संभावना बढ़ जाती है।


-समीकरण लिखते समय समीकरण बैलेंस भी अनिवार्य रूप से लिखें, अन्यथा अंक कटना तय है।

-विस्तृत उत्तरीय प्रश्नों के लिए पी ब्लाक के यौगिकों के निर्माण विधि को चित्र सहित समझने का करें प्रयास।

-चार्ट बनाकर करें याद। रसायन शास्त्र के पेपर में कुल 17 इकाइयां दी जाएंगी।

-न्यूमेरियकल के लिए इस बार केवल चार चैप्टर ठोस अवस्था, विलयन, विद्युत रसायन और रासायनिक बलगतिकी पर अधिक ध्यान देने की जरूरत है।


-बहुलक नामक चैप्टर को एक फालो चार्ट द्वारा इसके वर्गीकरण पर ध्यान देना होगा।

-छोटी-छोटी परिभाषाओं व उनके सूत्रों को एक जगह नोट कर याद करें।

-अभिक्रिया को रटने की आवश्यकता नहीं है। इसकी क्रिया विधि को समझकर बार-बार लिखें।

गुरुमंत्र

-किसी भी परीक्षा में सफलता हासिल करने के लिए समय का महत्व समझना होगा।

-सिलेबस को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

-बार-बार लिखकर गलतियों को पकड़ कर स्वयं ही प्रयास करें।


-किसी भी प्रकार का मन में तनाव न रखें। पिछले पांच साल का पेपर हल करें। पढ़ाई पर अधिक से अधिक समय देने की जरूरत है।

-अध्ययन करते समय एकाग्रता बेहद जरूरी है।

-ग्रुप बनाकर चर्चा करने का भी प्रयास करें।

किस पाठ से कितने अंक

-ठोस अवस्था से 05 अंक

-विलयन से 07 अंक

-वैद्युत रसायन से 05 अंक

-रासायनिक बलगतिकी से 05 अंक

-पृष्ठ रसायन से 05 अंक


-‘पी ब्लाक के तत्व से 07 अंक

-‘डी और ‘एफ ब्लाक के तत्व से 04 अंक

-उप सहसंयोजक यौगिक से 06 अंक

-हैलोएल्फेन और हैलोएरीन से 05 अंक

-ऐल्कोहॉल, फिनॉल और ईथर से 05 अंक

-एल्डिहाइड कीटोन, कार्बोक्सिलिक अम्ल से 06 अंक

-नाइट्रोजन युक्त कार्बन यौगिक से 04 अंक

-जैव अणु से 06 अंक

कुल 70 अंकों के पूछे जाएंगे सवाल

ऐसे होंगे प्रश्न

बहुविकल्पीय एक-एक अंक के छह प्रश्न

-खंड ‘क, ख, ग, घ से दो-दो अंक के आठ प्रश्न

-खंड ‘क, ख, ग, घ से तीन-तीन अंक के चार प्रश्न

-खंड ‘क, ख, ग, घ से चार-चार अंक के चार प्रश्न

-खंड ‘क व ख से पांच-पांच अंक के चार प्रश्न