दिल्ली में महाराजा अग्रसेन अस्पताल के 140 स्वास्थ्यकर्मी होम क्वारंटाइन

0 136

दिल्ली न्यूज़ 24 रिपोर्टर। पश्चिमी दिल्ली के पंजाबी बाग इलाके में स्थित महाराजा अग्रसेन अस्पताल में कोरोना संक्रमित स्वास्थ्यकर्मियों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। शुक्रवार को यहां संक्रमित स्वास्थ्यकर्मियों की संख्या बढ़कर 10 हो गई है। फिलहाल, यहां अब तक 140 स्वास्थ्यकर्मियों को होम क्वारंटाइन किया गया है।

प्रशासन के मुताबिक अस्पताल के वार्डों में भर्ती सभी मरीजों को अस्पताल की दूसरी ब्रांचों में शिफ्ट कर दिया गया है। अस्पताल को निगम की ओर से पूरी तरह सैनिटाइज भी कर दिया गया है। योजना है कि जिले में यदि मामले बढ़ते हैं तो अस्पताल को कोविड वार्ड में तब्दील किया जाएगा। फिलहाल, यहां इमरजेंसी सुविधा जारी है।

उधर, बालाजी अस्पताल में भी 33 स्वास्थ्यकर्मियों को होम क्वारंटाइन किया गया है, जिसमें तीन चिकित्सक व अन्य कर्मचारी शामिल हैं। स्वास्थ्य विभाग ने सभी होम क्वारंटाइन किए गए चिकित्सकों व अन्य कर्मचारियों के खून के सैंपल लिए हैं। कुछ की रिपोर्ट जारी हो गई है, जो नेगेटिव आई है। शेष रिपोर्ट भी जल्द जारी हो जाएगी। इसके आधार पर आगे की गतिविधि निर्धारित की जाएगी। फिलहाल, अस्पताल के वार्ड में कोई भी मरीज भर्ती नहीं है।

पंजाबी बाग सब-डिवीजन के अंतर्गत आने वाले नांगलोई स्थित सत्यभामा अस्पताल में दो चिकित्सकों व पश्चिम विहार स्थित सहगल अस्पताल में चिकित्सक व नर्सिग स्टाफ समेत 20 कर्मचारियों को भी होम क्वारंटाइन कर दिया गया है। प्रशासन के मुताबिक यहां भी कुछ संक्रमित मरीज इलाज के लिए आए थे। हालांकि पुष्टि होने के बाद सभी को कोविड अस्पताल में रेफर कर दिया गया था। निगम ने दोनों ही अस्पतालों को सैनिटाइज कर दिया है। फिलहाल, यहां ओपीडी सेवा बंद कर दी गई है। केवल इमरजेंसी सुविधा ही जारी है। यहां भी सभी का सैंपल एकत्रित हो गया है, अब प्रशासन रिपोर्ट का इंतजार कर रहा है।

महाराजा अग्रसेन के खिलाफ लापरवाही की एक और शिकायत पंजाबी बाग स्थित महाराजा अग्रसेन अस्पताल में लापरवाही का एक और मामला सामने आया है। असल में हरियाणा से एक महिला अस्पताल में इलाज के लिए आई थी।

महिला में कोरोना वायरस के कुछ लक्षण नजर आने पर अस्पताल प्रशासन ने 30 मार्च को उन्हें होम क्वारंटाइन होने की सलाह दी, पर बृहस्पतिवार को महिला में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हो गई। पश्चिमी जिला प्रशासन के मुताबिक अस्पताल प्रशासन ने इस बात की कोई जानकारी उन्हें नहीं दी। इस कारण स्वास्थ्य विभाग की टीम महिला के स्वास्थ्य पर नजर नहीं रख पाई। ऐसे में डर है कि महिला से संपर्क में आकर न जाने कितने लोग संक्रमित हो गए होंगे। हरियाणा की स्वास्थ्य विभाग की टीम ने महिला के संपर्क में आए सभी लोगों को चिन्हित कर उनकी जांच शुरू कर दी है। पश्चिमी जिला प्रशासन ने पंजाबी बाग थाने को अस्पताल के खिलाफ लापरवाही का मामला दर्ज करने का आदेश दिया है।