हार्दिक पांड्या ने खेली वनडे करियर की बेस्ट पारी, रवींद्र जडेजा के साथ मिलकर की नाबाद शतकीय साझेदारी

0 66


टीम इंडिया के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या तीन मैचों की वनडे सीरीज के आखिरी मुकाबले में कैनबरा में शतकीय पारी खेलने के चूक गए और नाबाद 92 रन बनाए। अपनी बेहतरीन पारी के दम पर हार्दिक ने टीम के स्कोर को 300 के पार तक पहुंचा दिया जहां तक पहुंचना टीम इंडिया के लिए आसान नहीं लग रहा था। हार्दिक पांड्या का भरपूर साथ रवींद्र जडेजा ने दिया और उन्होंने भी नाबाद अर्धशतक जड़ा।

इस मैच में हार्दिक पांड्या ने 76 गेंदों पर 7 चौके व एक छक्के की मदद से नाबाद 92 रन बनाए और ये उनके वनडे करियर की बेस्ट पारी भी रही। वहीं रवींद्र जडेजा ने 50 गेंदों पर नाबाद 66 रन बनाए और अपनी पारी में 5 चौके व 3 छक्के लगाए। हार्दिक पांड्या ने छठे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए फिनिशर भी भूमिका को जबरदस्त तरीके से निभाया। एक वक्त पर टीम इंडिया के 5 विकेट 152 रन पर गिर चुके थे, लेकिन हार्दिक और जडेजा ने मिलकर छठे विकेट के लिए नाबाद 150 रन की साझेदारी करते हुए टीम के स्कोर को 50 ओवर में 5 विकेट पर 302 तक पहुंचा दिया।

हार्दिक व जडेजा ने छठे विकेट के लिए की तीसरी सबसे बड़ी साझेदारी

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे वनडे मैच में हार्दिक व जडेजा के बीच छठे विकेट के लिए नाबाद 150 रन की साझेदारी हुई और इसके दम पर टीम का स्कोर 302 तक पहुंचा। भारत की तरफ से वनडे में छठे विकेट के लिए इन दोनों खिलाड़ियों ने तीसरी सबसे बड़ी साझेदारी की। भारत की तरफ से वनडे में छठे विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड अंबाती रायुडू व स्टुअर्ट बिन्नी के नाम पर हैं और इन दोनों ने 2015 में हरारे में जिम्बाब्वे के खिलाफ छठे विकेट के लिए 160 रन की साझेदारी की थी।


वनडे में भारत की तरफ से छठे विकेट के लिए तीन सबसे बड़ी साझेदारी-

-160 रन, अंबाती रायुडू व स्टुअर्ट बिन्नी विरुद्ध जिम्बाब्वे, हरारे- 2015

-158 रन, युवराज सिंह व एम एस धौनी विरुद्ध जिम्बाब्वे, हरारे- 2005

-150* हार्दिक पांड्या व रवींद्र जडेजा विरुद्ध ऑस्ट्रेलिया, कैनबरा- 2020