स्मार्ट सिटी, सिटी बस सर्विस शुरू करने में यू-टर्न बना रोड़ा

0 89


गुरुग्राम के बाद अब स्मार्ट सिटी में सिटी बस सर्विस शुरू करने की तैयारी हो रही है, लेकिन राष्ट्रीय राजमार्ग पर बदरपुर बार्डर के पास एक यू टर्न को लेकर अभी पेच अटका हुआ है। इसी यू टर्न का प्रयोग कर बसें वापस फरीदाबाद के लिए आएंगी। गुरुग्राम मेट्रोपाेलिटन सिटी बस लिमिटेड (जीएमसीबीएल) के अधिकारी जहां यू टर्न बनाने की मांग कर रहे हैं, वहां फिलहाल भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारी सहमत नहीं हैं।

पिछले दिनों फरीदाबाद महानगर विकास प्राधिकरण (एफएमडीए) की बैठक में भी यह मुद्दा उठा था। एफएमडीए के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वीएस कुंडू ने अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी डा. गरिमा मित्तल को इस मामले में जिला उपायुक्त यशपाल यादव का सहयोग लेने की बात कही थी। अब जल्द जीएमसीबीएल, एनएचएआइ, एफएमडीए के अधिकारियों के साथ जिला उपायुक्त की बैठक हो सकती है। उम्मीद की जा रही है कि इस बैठक में समस्या का समाधान निकाल लिया जाएगा। इसके बाद शहर में सिटी बस सर्विस का लाभ शहरवासियों को मिल सकेगा।


गुरुग्राम में शुरू हो चुकी है सेवा

गुरुग्राम में सिटी बस सर्विस शुरू हो चुकी है। कोरोना संक्रमण के चलते वहां सभी बसों का प्रयोग नहीं हो पा रहा है। इसलिए पिछले दिनों मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने गुरुग्राम की कुछ बसें फरीदाबाद महानगर विकास प्राधिकरण को देने के लिए कहा था। इसके बाद सिटी बस सर्विस के लिए गुरुग्राम मेट्रोपालिटन सिटी बस लिमिटेड (जीएमसीबीएल) द्वारा रूट का सर्वे भी किया जा चुका है। इसी सर्वे के तहत राष्ट्रीय राजमार्ग पर बदरपुर पुल के नीचे यू टर्न और चौड़ा करने को लेकर सहमति नहीं बन रही है। जीएमसीबीएल अधिकारी चाहते हैं कि इस यू टर्न से बसें पेट्रोल पंप के पास खड़ी हो सकेंगी, क्योंकि यहां काफी सवारियां रहती हैं। इसलिए बसें भरकर चलेंगी।


एनएचएआइ के अधिकारी का बयान

बदरपुर बार्डर के पुल के नीचे दो यूट टर्न हैं। एक यू टर्न टोल बूथ से थोड़ा पहले है, जिसका प्रयोग केवल आटो व दोपहिया वाहन चालक करते हैं। जीएमसीबीएल के अधिकारी इसी यू टर्न को और चौड़ा करने की बात कह रहे हैं, जबकि ऐसा करना ठीक नहीं होगा। इस यू टर्न से पहले एक और यू टर्न है, सिटी बसें इसका प्रयोग कर वापस फरीदाबाद जा सकती हैं।

  • धीरज सिंह, परियोजना प्रबंधक, एनएचएआइ।

अधिकारी का बयान

एनएचएआइ अधिकारियों से बात की जा रही है। हमें उम्मीद है जल्द समाधान निकल जाएगा। इस बारे में जिला उपायुक्त यशपाल यादव संग भी जल्द बैठक की जाएगी। पहले चरण में फरीदाबाद में 15 सिटी बसें चलाई जाएंगी।